अमूल की फ्रैंचाइज़ी कैसे लें । अमूल पार्लर कैसे खोलें।

भारतवर्ष में भला आज अमूल नामक इस ब्रांड के बारे में कौन नहीं जानता है। यह ब्रांड गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन लिमिटेड (GCMMF) का प्रचलित एवं लोकप्रिय ब्रांड है । वर्तमान में यह अपने ७५ साल पूरे कर चुका है । गुजरात से शुरू हुआ इसका सफ़र विदेशों तक पहुँच चुका है ।

वर्तमान में अमूल द्वारा अपने ग्राहकों को दूध और दूध से जुड़े कई तरह के उत्पादों को बेचा जा रहा है। अमूल के उत्पादों में दूध, घी, दही, पनीर, चीज, मिल्क पाउडर, चॉकलेट इत्यादि से लेकर कई तरह के उत्पाद शामिल हैं । इस ब्रांड पर लोग इतना विश्वास करते हैं की इसके प्रोडक्ट को बेचने में आपको कहीं भी कोई परेशानी नहीं होने वाली है।

अमूल अपने प्रोडक्ट को भारत के हर कोने में देखना और बेचना चाहता है इसके लिए वह इच्छुक उद्यमियों को अपनी फ्रैंचाइज़ी ऑफर कर रहा है । इसकी फ्रैंचाइज़ी लेने का फायदा यह है की इसके ब्रांड को लोग अच्छी तरह से जानते हैं और उस पर विश्वास करते हैं।

यदि आप भी को ऐसा बिजनेस शुरू करने पर विचार कर रहे हैं। जिसमें आपको बहुत अधिक मार्केटिंग की आवश्यकता न हो, बल्कि कंपनी द्वारा की जाने वाली मार्केटिंग का सीधा लाभ आपको प्राप्त हो तो आप अमूल पार्लर की फ्रैंचाइज़ी लेने पर विचार कर सकते हैं। लेकिन उससे पहले जान लेते हैं की यह होते क्या हैं?

amul parlor

अमूल पार्लर क्या होते हैं

अमूल पार्लर अन्य दुकानों की तरह ही एक दुकान होती है, लेकिन इसमें आप सिर्फ अमूल ब्रांड के उत्पादों को बेच रहे होते हैं । इस तरह के पार्लर स्थापित करने के लिए आपको १०० वर्ग फीट से ज्यादा जगह की आवश्यकता होती है। कुल मिलाकर देखें तो एक ऐसी दुकान जहाँ पर आप अमूल ब्रांड के उत्पादों की पूरी रेंज (इसमें दूध से लेकर आइसक्रीम) तक सब कुछ शामिल है बेच रहे होते हैं उसे अमूल पार्लर कह सकते हैं ।    

अमूल पार्लर की फ्रैंचाइज़ी कैसे लें (Amul ki franchise kaise le)

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की अमूल की फ्रैंचाइज़ी लेने के चक्कर में आपको किसी भी धोखे में फंसने से सावधान रहने की आवश्यकता है। यह बात कंपनी ने अपनी अधिकारी वेबसाइट (Amul.com) के जरिये भी साफ़ एवं स्पष्ट शब्दों में लिखी हुई है । इसलिए सबसे पहले आपको उन अनधिकृत लोगों से सावधान रहने की जरुरत है जो फ्रैंचाइज़ी दिलाने के नाम पर आपसे पैसों की माँग कर रहे हैं । इसके अलावा भी कई अन्य कदम आपको इस बिजनेस को शुरू करने के लिए उठाने की आवश्यकता होती है।

पार्लर के प्रकार का चयन करें

अमूल द्वारा दो तरह के पार्लर की फ्रैंचाइज़ी ऑफर की जाती है, इसमें पहला प्रकार अमूल प्रेफरेड आउटलेट है, जिसके लिए आपको दुसरे प्रकार की तुलना में कम निवेश करने की आवश्यकता होती है। क्योंकि इसमें जगह और शामिल प्रोडक्ट दोनों कम हैं ।दूसरा प्रकार अमूल आइसक्रीम पार्लर है जिसके लिए कम से कम ३०० वर्ग फीट जगह की आवश्यकता होती है। और इसमें मशीनरी और उपकरणों के निवेश पर भी पहले प्रकार की तुलना में अधिक खर्चा आता है।  

हालांकि इन दोनों प्रकारों की विस्तृत जानकारी हम इस लेख के अंत में देंगे । लेकिन इस समय आपको इतना समझ लेना जरुरी है की आइस क्रीम पार्लर की फ्रैंचाइज़ी लेने में खर्चा ज्यादा है तो कमाई की संभावना भी अधिक है। लेकिन यदि आपकी निवेश करने की क्षमता कम है तो आप फ्रैंचाइज़ी का पहला प्रकार अमूल प्रेफरेड आउटलेट चुन सकते हैं।  

जगह का प्रबंध करें

यदि आपने फ्रैंचाइज़ी का पहला प्रकार चुना है तो आपको तुलनात्मक रूप से कम जगह की आवश्यकता है। यानिकी आप १०० -१५० वर्ग फीट जगह में किसी दुकान का प्रबंध करके भी इसे शुरू कर सकते हैं। लेकिन यदि आपने फ्रैंचाइज़ी का दूसरा प्रकार चुना है तो स्वाभाविक है की आपको बड़ी जगह की आवश्यकता तो होगी ही साथ में अधिक निवेश करने की भी आवश्यकता होगी।

इस बिजनेस के लिए लोकेशन का भी बड़ा महत्व है किसी भीड़ भाड़ वाली जगह, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, स्थानीय बाज़ार इत्यादि को इस तरह के बिजनेस के लिए आदर्श लोकेशन माना गया है। किसी सुनसान या कम फूटफाल वाली जगह पर इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने की गलती कदापि न करें ।

वित्त का प्रबंध करें

वित्त का प्रबंध करने से पहले अच्छा तो यह है की आप पहले एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर लें। जिसमें आप अपने व्यवसाय में आने वाली स्थिर लागत, वर्किंग कैपिटल, एरिया में उपलब्ध अवसर, भविष्य में उत्पादों के बिकने की संभावना, महीने में कम से कम बिक्री, आवश्यक मशीनरी उपकरणों इत्यादि पर आने वाली लागत के अलावा अपने बिजनेस के लक्ष्यों को भी परिभाषित करें ।

इसी दस्तावेज में आपको अपने बिजनेस में आने वाली अनुमानित लागत और अनुमानित कमाई का भी ब्यौरा लिखित रूप में अंकित करना होता है। यह इसलिए भी जरुरी है क्योंकि यदि आपके पास अमूल की फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए पैसों की कमी पड़ रही है तो जब आप बैंक में लों लेने जाएँगे तो बैंक वाले आपसे प्रोजेक्ट रिपोर्ट मांगते हैं।

चूँकि इस बिजनेस में आने वाली लागत बहुत अधिक न होने के कारण आप वित्त का प्रबंध अपनी बचत, नाते रिश्तेदारों से पैसे उधार लेकर भी कर सकते हैं । लेकिन यदि इसके बावजूद भी आप पैसों का प्रबंध नहीं कर पा रहे हैं तो आप बैंक लोन इत्यादि का सहारा ले सकते हैं।     

कंपनी के अधिकारिक स्रोतों पर संपर्क करें

इन सबका आंशिक रूप से प्रबंध करने के बाद आपको कंपनी के अधिकारिक सूत्रों से संपर्क करना होता है। फ्रैंचाइज़ी मिलने की तत्पर भावना के चलते किसी धोखाधड़ी से बचने के लिए आपको केवल और केवल अमूल की अधिकारी वेबसाइट (amul.com) पर दिए गए संपर्क सूत्रों पर ही संपर्क करना होता है ।

सेटिंग वाले शब्दों से बचकर रहेंगे तो आप फ्रैंचाइज़ी दिलाने के नाम पर होने वाले धोखे से बचे रहेंगे। चूँकि अमूल भारत में एक बेहद ही प्रचलित ब्रांड है इसलिए लोग इसकी फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए आतुर रहते हैं। और ठग लोगों की इसी आतुरता नामक कमजोरी का फायदा उन्हें अपने जाल में फँसाने के लिए करते हैं ।  

अमूल पार्लर खोलने में आने वाली लागत

अमूल पार्लर की फ्रैंचाइज़ी लेने में आने वाली लागत फ्रैंचाइज़ी के प्रकार के आधार पर अलग अलग होती है।

अमूल प्रिफर्ड आउटलेट खोलने में आने वाला खर्चा

इस तरह का यह आउटलेट खोलने के लिए उद्यमी को कम से कम १०० वर्ग फीट जगह की आवश्यकता होती है। यानिकी यह आउटलेट एक १० ×१० की दुकान में आसानी से खोला जा सकता है । चूँकि इसमें जगह आवश्यक मशीनरी और उपकरण कम होते हैं तो इसे शुरू करने में आने वाली लागत भी कम होती है। इस तरह का यह आउटलेट खोलने में ₹2.5 लाख तक का खर्चा संभावित है।

हालांकि दुकान की लोकेशन के हिसाब से दुकान का किराया अलग अलग हो सकता है जो उपर्युक्त बताए गए खर्चे में शामिल नहीं है। इसमें अमूल द्वारा ली जाने वाली ब्रांड सिक्यूरिटी फीस ₹25000 रेनोवेशन का खर्चा ₹1लाख और बाकी ₹1.25 लाख मशीनरी, उपकरणों इत्यादि पर होने वाला खर्चा शामिल है।    

अमूल आइसक्रीम स्कूपिंग पार्लर खोलने में आने वाला खर्चा

इस तरह की यह फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए उद्यमी के पास ३०० वर्गफीट से ज्यादा का बिल्ड एरिया होना चाहिए। चूँकि इसमें जगह ज्यादा चाहिए तो स्वभाविक है की इसमें इस्तेमाल में होने वाली मशीनरी और उपकरणों में आने वाली लागत भी अधिक होगी। एक आंकड़े के मुताबिक इस तरह का यह पार्लर खोलने में उद्यमी की लागत ₹7 लाख तक आ सकती है। इसमें भी जगह बिल्डिंग का किराया, कर्मचारियों की सैलरी इत्यादि शामिल नहीं है ।

बड़ी जगह है तो दुकान को रेनोवेट करने में आने वाला खर्चा भी बढ़ जाता है जो लगभग ₹4.5 लाख हो सकता है। इसके अलावा ब्रांड सिक्यूरिटी फीस भी इसमें दुगुनी यानिकी ₹50000 हो जाती है, और मशीनरी उपकरणों पर आने वाला खर्चा भी तकरीबन ₹2 लाख हो सकता है।

यदि उद्यमी उपकरणों को खरीदने पर सपोर्ट अमाउंट का फायदा लेना चाहता है तो उसे अपने पार्लर में इस्तेमाल में लाये जाने वाले सभी विजी कूलर्स एवं डीप फ्रिज अमूल ब्रांड के ही खरीदने होंगे।

जोखिम और अवसर  

अमूल ब्रांड भारत में लगभग हर जगह जाना पहचाना एक ब्रांड है चूँकि कंपनी अपने विज्ञापन हर प्लेटफोर्म टेलीविजन, रेडियो, समाचार पत्रों, सोशल मीडिया, सर्च इत्यादि पर देती रहती है । इसलिए हर कोई बंदा इस ब्रांड से वाकिफ है । लेकिन किसी ग्रामीण क्षेत्र या कोई ऐसी लोकेशन जहाँ पर फूटफॉल ही न हो वहां पर इस तरह का यह पार्लर खोलना जोखिम भरा हो सकता है।

जहाँ तक इस बिजनेस से होने वाली कमाई की बात है कंपनी इसमें उद्यमी को कुछ प्रोडक्ट पर कम तो कुछ पर ज्यादा मार्जिन प्रदान करती है । विभिन्न प्रोडक्ट पर यह मार्जिन 2.5% से लेकर 20% तक कुछ भी हो सकता है । इस मार्जिन के आंकड़े को आधार मानकर आप इस बिजनेस से होने वाली अनुमानित कमाई का अंदाजा लगा सकते हैं।

कौन कौन से प्रोडक्ट बेच सकते हैं

पहले प्रकार की फ्रैंचाइज़ी लेने पर आपको केवल दूध और इससे सम्बंधित उत्पाद जैसे दूध, दही, घी, पनीर, चीज इत्यादि को बेचने की इजाजत मिलती है। क्योंकि अमूल अमूल प्रिफर्ड आउटलेट खोलने के लिए जगह मशीनरी और उपकरण कम चाहिए होते हैं तो इसलिए इसमें निवेश भी कम होता है। इसलिए इसमें शामिल अमूल के उत्पादों की संख्या भी दुसरे प्रकार की फ्रैंचाइज़ी की तुलना में कम है।

जबकि आइसक्रीम स्कूपिंग पार्लर खोलने पर आपको दूध के उत्पादों को बेचने की इजाजत तो होती ही है, अमूल के बाकी लगभग सभी रेंज के प्रोडक्ट इसके तहत बेचने की छूट होती है। इसमें रेसिपी बेस्ड आइसक्रीम स्कूप्स , फ्लोट्स, शेक्स, बेक्ड पिज्जा, सैंडविच, चीज़ स्लाइस बर्गर, गार्लिक ब्रेड, हॉट चॉकलेट ड्रिंक इत्यादि उत्पाद शामिल हैं ।

फ्रैंचाइज़ी के लिए आवेदन कैसे करें

यदि आप अमूल पार्लर की फ्रैंचाइज़ी के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट (amul.com) पर जाना होगा। उसके बाद उस वेबसाइट में दिए गए अधिकारिक नम्बरों या ईमेल आईडी पर संपर्क करके आप कंपनी की फ्रैंचाइज़ी खोलने के बारे में बात कर सकते हैं ।

वर्तमान में कंपनी ने पार्लर की फ्रैंचाइज़ी लेने हेतु निम्न संपर्क सूत्रों को प्रकाशित किया हुआ है ।

टेलीफोन नंबर – 022-68526666

फ़ोन करने का समय और दिन –  सोमवार से शनिवार तक सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक

ईमेल आईडी – [email protected]

कंपनी का नाम –  GCMMF Ltd.

ब्रांड का नाम – अमूल  

यह भी पढ़ें