साइबर कैफे कैसे शुरू करें। Cyber Cafe Business Plan in Hindi.

Cyber Cafe Business Plan in Hindi : आज इन्टरनेट भी मनुष्य जीवन के लिए उतना ही जरुरी हो गया है, जितना की भोजन। इसलिए साईबर कैफ़े खोलना भी कमाई का एक अच्छा स्रोत हो सकता है। इस विकसित होती दुनिया में मनुष्य जीवन से जुड़े बहुत सारे कार्यों को इन्टरनेट की मदद से आसानी से पूर्ण किया जा सकता है।

भारत एक ऐसा देश है जहाँ पर चीन के बाद सबसे अधिक इन्टरनेट उपयोगकर्ता हैं। और चूँकि इन्टरनेट ने मनुष्य जीवन को काफी आसान बना दिया है, इसलिए भारत में लगातार इन्टरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या बढती जा रही है।

ऐसे में यदि आप कोई सूचना एवं प्रौद्यौगिकी के क्षेत्र से जुड़ा हुआ बिजनेस करने की सोच रहे हैं, तो आप साइबर कैफ़े शुरू कर सकते हैं। यद्यपि बहुत सारे लोग ऐसे भी होंगे, जिन्हें लगता होगा की वर्तमान में जब हर व्यक्ति के स्मार्टफोन में इन्टरनेट की सुविधा है, तो कोई भला क्यों साइबर कैफे में जाकर अपने पैसे खर्च करेगा।

जी हाँ यह बिलकुल सच है की वर्तमान में पहले के मुकाबले अधिक लोगों के स्मार्टफोन में इन्टरनेट की सुविधा उपलब्ध है। लेकिन चूँकि वर्तमान में लगभग सारे कार्य डिजिटली होने लगे हैं, तो ऐसे में लोगों को कई कार्यों जैसे प्रिंट आउट निकालना, नौकरी के लिए आवेदन करना, विडियो गेम खेलना, और कई अन्य कार्य जिन्हें मोबाइल की छोटी स्क्रीन से करने में परेशानी होती है।

उन्हें लोग आम तौर पर इन्टरनेट कैफ़े से करना पसंद करते हैं। इसलिए ऐसा नहीं है की मोबाइल में इन्टरनेट के बढ़ते उपयोग के कारण साइबर कैफे की उपयोगिता कम हुई है । बल्कि इन्टरनेट और प्रौद्यौगिकी के विकास और विस्तार के साथ इसकी महत्वता और बढ़ गई है।

cyber cafe under construction

साइबर कैफे क्या होता है (What is cyber cafe)

उद्यमी द्वारा अपने उद्यम को ग्राहकों को इन्टरनेट सेवाएँ, प्रिंटिंग सेवाएँ एवं अन्य सेवाओं को प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू किया जाता है। यानिकी एक ऐसी जगह जहाँ पर आप कंप्यूटर और इन्टरनेट की मदद से ईमेल चेक कर सकते हैं, गेम खेल सकते हैं, सोशल मीडिया इत्यादि के माध्यम से अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से चैट कर सकते हैं, विडियो भी देख सकते हैं।

ऑनलाइन फॉर्म भर सकते हैं, उसका प्रिंटआउट ले सकते हैं, या आपके पास पहले से उपलब्ध किसी दस्तावेज की सॉफ्ट कॉपी का प्रिंट आउट ले सकते हैं। फोटोकॉपी करवा सकते हैं। आम तौर पर साइबर कैफ़े द्वारा घंटों के हिसाब से पैसे चार्ज किये जाते हैं।

इसके अलावा कुछ ऐसे इन्टरनेट कैफे भी होते हैं, जो उन लोगों को प्रशिक्षण प्रदान करने का भी काम करते हैं, जिन्हें कंप्यूटर चलाना नहीं आता है। इसलिए स्पष्ट है की एक ऐसा उद्यम जो अपने ग्राहकों को इन्टरनेट एवं अन्य सेवाएँ प्रदान करता है, उसे साइबर कैफे या इन्टरनेट कैफे कहते हैं।

साइबर कैफे बिजनेस कैसे शुरू करें (How to start Cyber Cafe Business in India)

यद्यपि लोगों को लगता है की भारत में खुद का Cyber cafe शुरू करना बेहद आसान प्रक्रिया है। लेकिन वर्तमान में जब हर स्मार्टफ़ोन में इन्टरनेट उपलब्ध है, तो इसे शुरू करना भले ही आसान होगा। लेकिन इसे लम्बे समय तक सफलतापूर्वक चलाना और इससे लाभ कमाना आसान नहीं है।

आगे इस लेख में हम यही जानने का प्रयत्न कर रहे हैं की कैसे कोई इच्छुक उद्यमी खुद का साइबर कैफे इस ढंग से शुरू करे, की वह लम्बे समय तक इस प्रतिस्पर्धी बाज़ार में बना रहे। तो चलिए शुरू करते है।

स्थानीय माँग पर रिसर्च करें (Local demand)

जहाँ पर भी उद्यमी खुद का यह बिजनेस शुरू करने की योजना बना रहा हो, सबसे पहले उस एरिया विशेष में उद्यमी को इस बात का पता लगाना होगा की, वहां पर इन्टरनेट कैफे की माँग कितनी है। इसका अंदाजा वह उस एरिया में मौजूदा इन्टरनेट कैफों का भ्रमण करके और उनसे जानकारी लेकर भी लगा सकता है।

उस एरिया में स्थित साइबर कैफों में अलग अलग टाइम पर भ्रमण करें, और यदि आपको हर समय उन कैफों में भीड़ ही नजर आती है, तो इसका मतलब यह है की उस एरिया में इसकी माँग बहुत अधिक है। और आप वहां पर अपना खुद का साइबर कैफ़े खोलने पर विचार कर सकते हैं।

लेकिन यदि ऐसा नहीं है, और फिर भी आप उसी एरिया में अपना इन्टरनेट कैफे खोलना चाहते हैं। तो फिर आपको इस बारे में विचार करना होगा की, आप उस एरिया में उपलब्ध सीमित ग्राहकों का ध्यान अपने कैफे की तरफ कैसे खींच पाएंगे।     

साइबर कैफे के प्रकार का चयन करें (Select types of cyber cafe)

यह सच है की अधिकतर लोग उसी को Cyber cafe कहते हैं, जो इन्टरनेट सेवाओं के साथ प्रिंटिंग, ऑनलाइन फॉर्म सब्मीटिंग इत्यादि सेवाएँ अपने ग्राहकों को प्रदान करते हैं। लेकिन ये और भी प्रकार के होते हैं, जिनकी लिस्ट इस प्रकार से है।

केवल इन्टरनेट सेवाएँ प्रदान करने वाले कैफे – ये वे कैफे होते हैं, जो अपने ग्राहकों को केवल इन्टरनेट सेवाएँ प्रदान करती हैं।

मिश्रित साइबर कैफे – इस प्रकार के कैफे अपने ग्राहकों को गेमिंग और इन्टरनेट दोनों प्रकार की सेवाएँ प्रदान करती हैं।  

केवल गेमिंग सेवाएँ प्रदान करने वाले कैफे – इस तरह के ये कैफे अपने ग्राहकों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह के गेम ऑफर करती हैं।

कॉफ़ी के साथ साइबर कैफे – इस तरह के ये कैफे अपने ग्राहकों को इन्टरनेट सेवाओं के साथ कॉफ़ी भी प्रदान करते हैं।

रेस्टोरेंट और साइबर कैफ़ेजैसा की नाम से ही स्पष्ट है इस तरह के कैफे अपने ग्राहकों को इन्टरनेट सेवाओं के साथ खाद्य आइटम भी मुहैया कराते हैं।

सारे उपकरणों से सुसज्जित साइबर कैफे – इस प्रकार के कैफ़े अपने ग्राहकों को केवल इन्टरनेट सेवाएँ ही नहीं बल्कि प्रिटिंग, फोटोकॉपी, फैक्स, लेमिनेशन इत्यादि की सेवाएँ भी प्रदान करती हैं।   

उस एरिया में उपलब्ध माँग, अपने कौशल, योग्यता और निवेश क्षमता को ध्यान में रखकर उद्यमी उपर्युक्त में से किसी भी इन्टरनेट कैफे के प्रकार का चयन अपने व्यवसाय के लिए कर सकता है।

इंटीरियर का काम कराएँ (Interior work)

चयनित लोकेशन पर एक दुकान किराये पर ले सकते हैं, इस बिजनेस को शुरू करने के लिए बहुत अधिक जगह की आवश्यकता नहीं होती है। यदि आप 10 कंप्यूटर लगाकर भी इसे शुरू करते हैं, तो इसके लिए आपको लगभग 200-250Square Feet जगह की आवश्यकता होगी। आप सिर्फ एक दुकान किराये पर लेकर भी इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं।

इस व्यवसाय को शुरू करने में इंटीरियर का काम बेहद महत्वपूर्ण है, कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें प्राइवेसी पसंद होती है, ऐसे लोगों के लिए आप चाहें तो केबिन भी बना सकते हैं । और उनसे अन्य के मुकाबले ज्यादा चार्ज ले सकते हैं।

इसमें आप दुकान के दोनों दीवारों की तरफ एक लम्बी सी टेबल बनवाकर, बीच बीच में लकड़ी के पार्टीशन से बैठने की जगह को विभाजित कर सकते हैं। और कुर्सियाँ भी ऐसी इस्तेमाल कर सकते हैं, जो कम जगह में भी फिट आ जाएँ।

अपने बैठने की जगह के लिए एक अलग सी टेबल, कुर्सी, प्रिंटर, कंप्यूटर लगाएँ, ताकि जब लोगों को जरुरत पड़े तो वे आपकी मदद ले सकें।        

अच्छी लोकेशन का चुनाव करें (Select good location for cyber cafe)

जब उद्यमी द्वारा कैफ़े के प्रकार का चयन कर लिया जाता है, तो उसके बाद उसे चयनित एरिया में एक अच्छी लोकेशन का चुनाव अपने बिजनेस के लिए करना चाहिए। इस व्यवसाय के लिए अच्छी लोकेशन के तौर पर एक ऐसी जगह हो सकती है, जहाँ पर लोगों को प्रिंटिंग, फोटोकॉपी एवं अन्य डिजिटल सेवाओं का अधिक उपयोग की आवश्यकता होती है।

किसी सरकारी ऑफिस के नज़दीक, किसी बड़े शिक्षण संस्थान के नज़दीक, स्थानीय मार्किट इत्यादि इस व्यवसाय के लिए आदर्श लोकेशन मानी जाती हैं। ध्यान रहे साइबर कैफ़े के व्यापार की सफलता और असफलता में इसकी लोकेशन की अहम् भूमिका होती है। इसलिए लोकेशन का चयन सोच समझकर और विवेकपूर्ण ढंग से किया जाना चाहिए।   

जरुरी कंप्यूटर और उपकरण खरीदें (Buy Computers)                     

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे प्रमुख उपकरणों में कंप्यूटर ही है, यदि आपको लगता है की नए कंप्यूटर खरीदना आपकी लागत को बढ़ा सकता है। तो आप पुराने कंप्यूटर खरीदकर भी इस तरह का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं ।

कंप्यूटर और उसके उपकरणों के अलावा आपको एक हाई स्पीड इन्टरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है। आपके एरिया में जिस भी इन्टरनेट प्रोवाइडर की कनेक्टिविटी अच्छी हो आप उसका ब्रॉड बैंड कनेक्शन इनस्टॉल करा सकते हैं।

यदि आप अपने ग्राहकों को प्रिंटिंग, फोटोकॉपी जैसी सुविधाएँ भी प्रदान करना चाहते हैं, तो आपको प्रिंटर और फोटोकॉपी मशीन भी खरीदने की आवश्यकता होगी।     

जरुरी लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन प्राप्त करें (License for cyber cafe)

बहुत सारे लोगों को लगता है की भारत में साइबर कैफ़े खोलने के लिए किसी प्रकार के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं होती है। जबकि सच्चाई यह है की वर्तमान में इन्टरनेट सूचना और संचार का एक लोकप्रिय माध्यम बन चुका है, इसलिए कोई इसका गलत इस्तेमाल न करे। इसके लिए इस व्यवसाय को शुरू करने हेतु लाइसेंस की अनिवार्यता कर दी गई है ।

इस प्रकार का यह लाइसेंस साइबर कैफे को जिला मजिस्ट्रेट या पुलिस कमिश्नर के ऑफिस से प्रदान किया जाता है। लाइसेंस के रूप में इन्टरनेट कैफे के स्वामी को एक विशिष्ट पहचान संख्या जिसे UIN कहते हैं, प्रदान की जाती है। इस तरह के रजिस्ट्रेशन हेतु आवश्यक दस्तावेजों की लिस्ट निम्नवत है।

  • सम्बंधित ऑफिस या कार्यालय द्वारा प्रदान किया गया साइबर कैफे रजिस्ट्रेशन फॉर्म।
  • व्यवसाय का क़ानूनी स्वरूप जैसे प्रोप्राइटरशिप, पार्टनरशिप इत्यादि।
  • Cyber Cafe के स्वामी का नाम और पहचान प्रमाण पत्र की कॉपी।
  • जहाँ पर इन्टरनेट कैफे उपलब्ध है उस जगह का पता प्रमाण जैसे रेंट एग्रीमें, लीज एग्रीमेंट या स्वामित्व के दस्तावेज।   
  • इस प्रक्रिया में रजिस्ट्रेशन एजेंसी द्वारा लाइसेंस प्रदान करने से पहले इन्टरनेट कैफ़े का विजिट किया जाता है, और उसके बाद संतुष्ट और वेरीफाई करने के बाद ही लाइसेंस प्रदान किया जाता है।

ग्राहकों का अच्छे ढंग से रिकॉर्ड मेन्टेन करें (Maintain Customer Record)

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की लोग इन्टरनेट का गलत इस्तेमाल भी कर सकते हैं । और यदि कोई आपके साइबर कैफ़े का इस्तेमाल करके इन्टरनेट का गलत इस्तेमाल करता है, तो उसकी लपेट में कहीं न कहीं आप भी आ सकते हैं।

इसलिए यह सुनिश्चित करें की कोई भी ग्राहक आपके साइबर कैफे में आने से पहले अपना नाम, नंबर, पता इत्यादि रजिस्टर में लिखे। नाम, नंबर, पता इत्यादि गलत न हो, इसके लिए आप चाहें तो ग्राहकों से कोई एक वैध आईडी की कॉपी लेना अनिवार्य कर सकते हैं ।

नियमों के मुताबिक Cyber Cafe चलाने वाले उद्यमी को अपने ग्राहकों के पहचान पत्र की कॉपी का रिकॉर्ड मेन्टेन करना होता है। और यह रिकॉर्ड कम से कम एक साल पुराना उद्यमी के पास होना ही चाहिए। इसके अलावा कई अन्य नियम भी हैं, जो साइबर कैफ बिजनेस करने वाले उद्यमी को फॉलो करने होते हैं।

  • उद्यमी के पास पिछले एक वर्ष के ग्राहकों का रिकॉर्ड आईडी प्रूफ के साथ होना चाहिए।
  • रजिस्टर में सिर्फ उपयोगकर्ता की ही नहीं, बल्कि उसके साथ आए व्यक्ति की जानकारी भी होनी चाहिए।
  • उस रजिस्टर में ग्राहक या उसके साथ आए अन्य किसी व्यक्ति की जानकारी के तौर पर उसका नाम, पता, मोबाइल नंबर, तिथि, लॉग इन समय, लॉग आउट समय, कंप्यूटर नंबर, हस्ताक्षर इत्यादि की जानकारी स्पष्ट शब्दों में होनी चाहिए।
  • यदि कैफ़े चलाने वाला उद्यमी चाहे इसी रजिस्टर को ऑनलाइन या डिजिटली भी मेन्टेन कर सकता है, बशर्ते उसमें डिजिटल सिग्नेचर की सुविधा होनी चाहिए।
  • इन्टरनेट कैफे को मासिक रिपोर्ट सम्बंधित एजेंसी को भेजनी होती है।  

साइबर कैफे को सफल बनाने के लिए क्या करें  

Cyber cafe Business ko Safal Kaise banaye: अपने को सफलतापूर्वक चलाने के लिए आप नीचे दिए गए सुझावों पर विचार कर सकते हैं ।  

  • यदि आप अपने व्यवसाय को सफल बनाने के प्रति गंभीर हैं, तो आपको अपने व्यवसाय को अन्य की तुलना में अलग दिखाने पर विचार करना होगा। आपको उस एरिया में मौजूदा इन्टरनेट कैफे की कमियों को जानकर उन्हें शस्त्र के रूप में इस्तेमाल करके, अधिक से अधिक ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करना होगा।
  • शुरूआती दौर में आपको ओने ग्राहकों को गुणवत्तापूर्ण सेवा बेहद कम कीमतों में ऑफर करनी पड़ेगी।
  • ग्राहकों की डाटा की गोपनीयता और सुरक्षा बेहद जरुरी है, इसके लिए आपको बेहद सुरक्षित प्रणाली को अपने साइबर कैफ़े में इंस्टाल करने की आवश्यकता होगी। यदि आपने अपने ग्राहकों को साइबर सुरक्षा के खतरे से बचाने का आश्वासन नहीं दिया, तो आपके कैफे में शायद ही कोई आएगा।
  • आप अपने साइबर कैफे के माध्यम से अपने ग्राहकों को वो सेवाएँ प्रदान कर सकते हैं, जो वहां पर मौजूद अन्य कैफे प्रदान नहीं करते हैं।
  • आप चाहें तो नियमित तौर पर आने वाले ग्राहकों को कुछ छूट इत्यादि प्रदान कर सकते हैं।  

यह भी पढ़ें  

error: Content is protected !!