Blogging क्या है? 2023 में अपना ब्लॉगिंग बिजनेस कैसे शुरू करें।

बात जब ऑनलाइन बिजनेस की हो रही हो तो उसमें Blogging का नाम आना स्वाभाविक है। जी हाँ दोस्तों वर्तमान में जब भारत में भी इन्टरनेट का प्रचार प्रसार शहरों से लेकर ग्रामीण इलाकों तक हो गया है। तो ऑनलाइन व्यापारों की महत्वता और बढ़ गई है और जब बात ऑनलाइन व्यापारों की आती है और वह भी ऐसे व्यापारों की जिन्हें या तो मुफ्त में शुरू किया जा सकता है या फिर कुछ नाम मात्र पैसे खर्च करके शुरू किया जा सकता है। उनमें ब्लॉग्गिंग बिजनेस का नाम भी सर्वोपरी रहता है।

लेकिन क्या वास्तव में ब्लॉग शुरू करना बेहद आसान एवं बेहद सस्ता है? और क्या वाकई में ब्लॉग्गिंग के माध्यम से मनुष्य इतने पैसे कमाई कर पाने में सफल हो पायेगा जिससे वह अपने जीवन में आई जिम्मेदारियों का निर्वहन कर सके? ऐसे बहुत सारे प्रश्न उन लोगों के मष्तिष्क में कौंधते रहते हैं जो इस तरह का काम करने को इच्छुक रहते हैं। तो इन सवालों का जवाब यह है की वर्तमान में जब विभिन्न कंटेंट मैनेजमेंट साईट (CMS) जैसे WordPress, Drupal इत्यादि आसानी से एवं मुफ्त में उपलब्ध हैं तो कोई ऐसा व्यक्ति जिसे कोडिंग इत्यादि का ज्ञान न भी हो वह भी खुद का ब्लॉग आसानी से बना सकता है ।

और यह भी सत्य है की इसे बेहद कम खर्चे या फिर मुफ्त में भी आसानी से शुरू किया जा सकता है। खैर हम यहाँ पर वर्डप्रेस के माध्यम से ब्लॉग शुरू करने के बारे में वार्तालाप करेंगे जिसमें व्यक्ति को होस्टिंग इत्यादि खर्चों को मिलाकर एक वर्ष में 7-8 हज़ार रूपये खर्च करने की आवश्यकता हो सकती है। और जहाँ तक ब्लॉग्गिंग से कमाई का सवाल है इसकी कोई सीमा नहीं है यह ब्लॉगर के प्रयासों एवं रणनीति पर निर्भर करता है।

लेकिन ध्यान रहे यदि आप केवल पैसे कमाने के वशीभूत होकर इस तरह का यह बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो हो सकता है की आप इसमें असफल भी हो जाएँ। लेकिन यदि आपकी स्पष्ट मंशा इन्टरनेट उपयोगकर्ताओं को कुछ सूचना, जानकारी इत्यादि प्रदान करना है जो उनके लिए उपयोगी हो तो इसमें सफल होने की संभावना अधिक है।

Blogging kaise start kare

ब्लॉग्गिंग क्या है (What is Blogging):

ब्लॉग शब्द की यदि हम बात करें तो इसका मूल अर्थात वास्तविक नाम वेबलॉग था और यह अपने इसी मूल नाम का एक छोटा रूप है। वेबलॉग ने शुरूआती दिनों में इन्टरनेट उपयोगकर्ताओं को उनकी डिटेल्स को डायरी स्टाइल में प्रविष्ट करने की अनुमति प्रदान की। चूँकि ब्लॉग पाठकों को टिप्पणी करने की अनुमति देते हैं इसलिए ये चलन आम हो गया और और ब्लॉग समुदायों में लोकप्रिय हो गए।

और आज Blogging से अभिप्राय उन लेखन, फोटोग्राफी एवं अन्य मीडिया से लगाया जाता है जिन्हें ऑनलाइन प्रकाशित किया जाता है। इसलिए कहा जा सकता है की ब्लॉग्गिंग एक नहीं बल्कि अनेकों स्किल का एक समूह है जिन स्किल की आवश्यकता एक ब्लॉग को संचालित करने एवं नियंत्रित करने के लिए पड़ती है। इसमें इन्टरनेट पर कंटेंट लिखने, प्रकाशित करने, लिंक करने, कंटेंट शेयर करने इत्यादि प्रक्रियाएं शामिल हैं।       

ब्लॉग्गिंग क्यों शुरू करनी चाहिए (Why you Should start blogging)

क्या आप लोगों को किसी विषय पर सूचित या जानकारी देना चाहते हैं जैसे आप कोई विचार या मेसेज लोगों के साथ शेयर करना चाहते हैं। क्या आप किसी कारणवश एक समुदाय का निर्माण करना चाहते हैं? क्या आप लोगों को एवं अपने अनुसरण करने वालों को अपने ब्रांड के बारे में अपडेटेड जानकारी देना चाहते हैं? क्या आप लोगों को बताना चाहते हैं की आपके द्वारा ऑफर किये जाने वाला प्रोडक्ट उनकी किस तरह से मदद करेगा और उन्हें इसे क्यों खरीदना चाहिए? यदि आप उपर्युक्त बताई गई बातों में से कुछ भी करना चाहते हैं तो ब्लोगिंग नामक बिजनेस आपके लिए लाभकारी हो सकता है।

इसमें कोई दो राय नहीं की यदि आप शुरू से ही अपने ब्लॉग के इरादे में स्पष्ट हैं तो एक ब्लॉग आपको सूचित करने, शिक्षित करने, बढ़ावा देने और यहाँ तक की बिक्री करने में भी मदद कर सकता है। इसलिए जरुरी है की यदि आप गंभीरता से इसे शुरू करना चाहते हैं तो आप लोगों को क्या सूचना या सन्देश देना चाहते हैं अर्थात आपके ब्लॉग शुरू करने के पीछे क्या उद्देश्य है का पता लगायें। यहाँ पर हम कुछ कारणों की लिस्ट दे रहे हैं जिनके चलते लोग Blogging को पसंद करते हैं।

  • अपना लेखन एवं सोचने का कौशल बढ़ाने के लिए भी लोग इसे पसंद करते हैं।
  • किसी एक विषय पर विशेषज्ञता हासिल करने के लिए।
  • अपना आत्मविश्वास बढाने के लिए ।
  • इंडस्ट्री में अन्य लोगों के साथ संपर्क करके नेटवर्क बनाना।
  • ब्लॉग से पैसे कमाने के एक नहीं बल्कि अनेकों तरीके हैं । 

एक बार जब उद्यमी का ब्लॉग प्रचलित हो जाता है तो Blogging से पैसे कमाने के अनेकों तरीके हैं उद्यमी चाहे तो एफिलिएट मार्केटिंग कर सकता है या डायरेक्ट विनिर्माणकर्ता या कंपनी के उत्पादों को भी अपने ब्लॉग के माध्यम से बेच सकता है। इसके अलावा एडसेंस एवं डायरेक्ट विज्ञापन प्रकाशित करके भी पैसे कमाए जा सकते हैं। एक आंकड़े के मुताबिक लगभग 61% ग्राहक ऐसे होते हैं जो किसी प्रोडक्ट को खरीदने से पहले ऑनलाइन जानकारी लेते हैं और उसके बाद ही प्रोडक्ट खरीदते हैं। यही कारण है की वर्तमान में ब्लॉग्गिंग की महत्वता और भी बढ़ गई है।

ब्लॉग्गिंग कैसे शुरू करें ?(How to Start Blogging in India):

हालांकि इसमें कोई दो राय नहीं है की ऑनलाइन व्यापारों की लिस्ट में ब्लोगिंग एक ऐसा व्यापार है जिसे बेहद कम निवेश एवं कुछ दिनों का प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद शुरू किया जा सकता है। जहाँ तक प्रशिक्षण का सवाल है इच्छुक व्यक्ति को खुद का ब्लॉग शुरू करने के लिए वर्डप्रेस इत्यादि में के जरिये पोस्ट कैसे प्रकाशित करते हैं इत्यादि की पूर्ण जानकारी का होना नितांत आवश्यक है।

हालांकि इस प्रकार का यह काम सीखने के लिए उद्यमी को कोई पैसे इत्यादि खर्चा करने की आवश्यकता नहीं होती है। बल्कि सीखने का जूनून हो तो इस तरह का यह काम पूर्ण रूप से इन्टरनेट की मदद से ऑनलाइन आर्टिकल पढ़कर एवं विडियो देखकर भी आसानी से सीख सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का ब्लॉग शुरू करने के लिए कौन कौन से जरुरी कदम उठा सकता है।

1. अपने ब्लॉग के लिए आदर्श टॉपिक का चयन करें

इससे पहले की आप इस बिजनेस में प्रवेश करें सबसे जरुरी बात यह है की आप अपनी जानकारी एवं अनुभव के मुताबिक स्वयं के लिए किसी टॉपिक का चयन करें। और यह बात जानने की भी कोशिश करें की उस टॉपिक पर आपकी टारगेट ऑडियंस कौन सी रहेगी और इसे आप अधिक से अधिक लाभकारी कैसे बना पाएंगे। अक्सर नए ब्लॉगर गलती करते हैं की वे अपने ब्लॉग पर विभिन्न विषयों के बारे में लिखने एवं जानकारी देने लगते हैं जिसका उनके ब्लॉग पर प्रतिकूल असर दिखाई पड़ता है।

इसलिए उद्यमी को किसी एक टॉपिक पर ही अपना पूरा ध्यान फोकस करना होगा इससे उसे बाद में विज्ञापन एवं प्रायोजित पोस्ट भी किसी विशेष श्रेणी को टारगेट करके ही मिलने की संभावना है। इसलिए उद्यमी के लिए कौन सा टॉपिक उपयुक्त रहेगा इस बात का निर्णय लेने के लिए उद्यमी स्वयं के ज्ञान, कौशल, जानकारी एवं अनुभव का विश्लेषण कर सकता है और जिस टॉपिक पर उसे लगता है की उसे सर्वाधिक एवं विशिष्टता हासिल है उसी टॉपिक का चयन वह Blogging Business शुरू करने के लिए कर सकता है।     

2. ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म का चुनाव करें (Select CMS for Blogging)

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की वर्तमान में इन्टरनेट पर ऐसे ऐसे सर्विसेज मुफ्त हैं। जिनका इस्तेमाल करके एक ऐसा व्यक्ति जिसे कंप्यूटर कोडिंग भाषा की कोई जानकारी नहीं है वह भी खुद की वेबसाइट या ब्लॉग बना सकता है। कहने का आशय यह है की ब्लॉग शुरू करने के लिए इन्टरनेट पर कुछ ऐसे प्लेटफोर्म भी उपलब्ध हैं जो मुफ्त में लोगों को अपना ब्लॉग शुरू करने का अवसर देते हैं। इनमें ब्लॉगर, वर्डप्रेस, टंबलर इत्यादि प्रमुख हैं इनके माध्यम से उद्यमी स्वयं का बिना किसी खर्च के ब्लॉग शुरू कर सकता है।

लेकिन ध्यान रहे इनका नियंत्रण पूर्ण रूप से इन ब्लॉग्गिंग कम्पनियों के पास ही रहता है। जबकि स्वयं होस्टेड ब्लॉग स्थापित करने के लिए उद्यमी को एक साल में लगभग 5-8 हज़ार रूपये खर्च करने की आवश्यकता हो सकती है। इसमें उद्यमी को डोमेन नाम यानिकी वेबसाइट का नाम एवं होस्टिंग खरीदने की आवश्यकता होती है। इसलिए स्वयं का ब्लॉग शुरू करने के इच्छुक उद्यमी को ब्लॉग्गिंग प्लेटफोर्म का भी चयन करना होगा की वह कौन से प्लेटफोर्म के माध्यम से ब्लॉग शुरू करना चाहता है। हमारी राय में उद्यमी को सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म का चयन करना चाहिए।        

3. टॉपिक के मुताबिक डोमेन नाम का चयन करें

डोमेन नाम यानिकी आपके ब्लॉग या वेबसाइट का नाम क्या होगा अब इसका चयन करना बेहद महत्वपूर्ण है। क्योंकि डोमेन नाम वह नाम होगा जिस नाम से उसे लोग ऑनलाइन जानेंगे। कोई फर्क नहीं पड़ता की आपने कौन से टॉपिक का चुनाव Blogging शुरू करने के लिए किया है क्योंकि यही वह यूनिक एड्रेस होगा जिसके माध्यम से लोग आपके लेखों तक पहुंचेंगे। जब तक आप इसका भुगतान करते जायेंगे यह डोमेन आपका ही होगा।

लेकिन डोमेन नाम का चयन करने में उद्यमी को एक बात का विशेष ध्यान रखना होगा की डोमेन नाम ज्यादा लम्बा न हो ताकि लोगों को उसे याद करने में परेशानी हो और डोमेन नाम टॉपिक के अनुकूल होना भी अति आवश्यक है। अर्थात यदि संभव हो तो व्यक्ति को एक ऐसे डोमेन नाम का चयन करना चाहिए जिसका नाम सुनते ही लोगों को आईडिया हो जाय की यह ब्लॉग किस विषय पर आधारित हो सकता है। जैसे health, beauty, law, business इत्यादि ऐसे शब्द हैं जो स्पष्ट इंगित करते हैं की ये किस बारे में हो सकते हैं।

और डोमेन बेचने वाली अनेक कम्पनियां जैसे Godaddy, Bigrock इत्यादि हैं हालांकि अधिकतर वेब होस्टिंग बेचने वाली कम्पनियां भी डोमेन बेचती हैं और अक्सर ये होस्टिंग के साथ डोमेन मुफ्त में देने का ऑफर भी करती हैं। इसलिए पैसे बचाने के लिए उद्यमी चाहे तो जिस होस्टिंग कंपनी से होस्टिंग खरीद रहा हो उसी से डोमेन नाम भी खरीद सकता है।         

4. फ़ास्ट वेब होस्टिंग का चयन करें (Select Web hosting)

ब्लॉग या वेबसाइट की सफलता एवं असफलता में वेब होस्टिंग का बड़ा अहम् योगदान है इसलिए डोमेन नाम चयन करने के बाद उद्यमी को एक फ़ास्ट एवं विश्वसनीय वेब होस्टिंग का भी चयन करना नितांत आवश्यक है। वह इसलिए क्योंकि आपके ब्लॉग या वेबसाइट की परफॉरमेंस पूर्ण रूप से इस बात पर निर्भर करती है की आपने कौन सी वेब होस्टिंग को अपने व्यवसाय के लिए चुना है। एक अच्छे होस्ट को अपने ग्राहकों की वेबसाइट को हफ्ते के सातों दिन एवं दिन के चौबीस घंटे ऑनलाइन उपलब्ध कराना होता है।

इसके अलावा उद्यमी को एक ऐसे होस्टिंग कंपनी का चयन करना चाहिए जो सिर्फ खुद ही फ़ास्ट सर्विस देने का वादा न कर रही हो बल्कि अनेकों रिव्यु वेबसाइट एवं वीडियो रिव्यु में उसके ग्राहक भी उसकी फ़ास्ट सर्विस होने का दावा कर रहे हों। इसके अलावा उद्यमी को इस बात का भी ध्यान रखना है की वेब होस्टिंग के साथ फ्री डोमेन रजिस्ट्रेशन जैसी फैसिलिटी कौन सी कंपनी दे रही है। एक अच्छी एवं किफायती वेब होस्टिंग का चयन करने में उद्यमी को अनेकों बातों का ध्यान रखना होता है। 

जिनकी पूरी लिस्ट यहाँ पर रख पाना इस लेख में संभव नहीं है इसलिए उपर्युक्त बातों के आधार पर ही यदि उद्यमी वेब होस्टिंग का चयन करे तो उचित हो सकता है। वर्तमान में वेबहोस्टिंग कम्पनियों द्वारा SSL Certificate भी अपने पोपुलर प्लान के साथ मुफ्त में दिया जा रहा है। वैसे कुछ प्रमुख वेब होस्टिंग कम्पनीज में ब्लू होस्ट, होस्टगैटर, A2 Hosting, Site ground इत्यादि शामिल हैं। लेकिन Blogging शुरू करने के लिए व्यक्ति को इनका चुनाव अपनी रिसर्च, विवेक, अनुभव इत्यादि के आधार पर करना ही बेहतर हो सकता है।         

5. होस्टिंग अकाउंट में वर्डप्रेस इंस्टाल करें (Install WordPress)

हालांकि अब तक का किया हुआ काम काफी आसान एवं कम तकनिकी था लेकिन अब यह काम ऐसा है यदि blog शुरू करने के इच्छुक व्यक्ति ने ऑनलाइन जानकारी एवं प्रशिक्षण इस बारे में नहीं प्राप्त किया होगा। तो उसे समझ में नहीं आएगा की हम यहाँ पर क्या कहना चाह रहे हैं जब व्यक्ति द्वारा डोमेन एवं वेबहोस्टिंग खरीद ली जाती है उसके बाद वेबहोस्टिंग द्वारा उसे Cpanel Username, Password , Name server इत्यादि ईमेल के माध्यम से बता दिए जाते हैं।

ताकि व्यक्ति ब्लॉग शुरू करने की ओर अपने आगे के कदम बढ़ा सके। व्यक्ति को उसके बाद अपने डोमेन को  NameServers से कनेक्ट करना होता है शुरुआत में यह जल्दी प्रोपेगेट हो जाता है जबकि बाद में इसमें चौबीस से अड़तालीस घंटों तक का समय भी लग सकता है। जब Nameservers डोमेन से कनेक्ट हो जाता है तो उसके बाद व्यक्ति अपना Cpanel Login करके इसमें वर्डप्रेस इंस्टाल कर सकता है। और इंस्टाल करते समय जो यूजरनाम एवं पासवर्ड भरा गया हो उसी के माध्यम से अपने वर्डप्रेस अकाउंट में लॉग इन भी हो सकता है।     

6. ब्लॉग के लिए सही थीम का चयन करें  (Select Good Theme for your Blog)

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की ब्लॉग शुरू करने वाले व्यक्ति द्वारा जिस तरह की थीम का इस्तेमाल किया जायेगा उसके ब्लॉग का डिजाईन एवं लेआउट भी वैसा ही होगा। हालांकि बहुत सारे ब्लॉगर जिन्हें कोडिंग इत्यादि की जानकारी होती है वे अपनी पसंद के अनुसार किसी भी थीम की एडिट करके डिजाईन एवं लेआउट तैयार कर लेते हैं । लेकिन एक शुरूआती ब्लॉगर के लिए यह सब खुद से करना संभव नहीं है।

इसलिए वह चाहे तो किसी वेब डेवलपर की मदद से अपने मन मुताबिक अपने ब्लॉग के डिजाईन एवं लेआउट में परिवर्तन कर सकता है। या फिर वर्डप्रेस में ऐसी हजारों फ्री थीम हैं जिनका चयन उद्यमी अपनी पसंद के मुताबिक कर सकता है। इसलिए शुरूआती दौर में तो उद्यमी को किसी फ्री थीम का ही चयन करना होगा जो उसके पसंद के डिजाईन एवं लेआउट से मेल खाती हो बाद में उद्यमी चाहे तो कोई मनपसंद थीम खरीद भी सकता है।      

7. कंटेंट लिखें और ब्लॉग को प्रमोट करें (Promote your Blog)

अब तक उद्यमी अपना ब्लॉग शुरू करने के लिए लगभग सभी आवश्यक कदम उठा चूका होगा इसलिए अब उसका अगला कदम अपने ब्लॉग के लिए कंटेंट लिखने का होना चाहिए। यदि व्यक्ति यह काम स्वयं कर सकता है तो बेहतर है अन्यथा उसे उसके टॉपिक पर अच्छे कंटेंट लिखने वाले विभिन्न लेखक भी मिल जायेंगे जिन्हें उसे लिखने के बदले भुगतान करना होगा। कंटेंट से यहाँ पर हमारा आशय उस टॉपिक के बारे में जानकारी या अपडेट इत्यादि लिखने से है जिनके बलबूते वह अपने ब्लॉग पर ऑडियंस को लाने में सफल हो पायेगा।

ध्यान रहे यहाँ पर कंटेंट ओरिजिनल होना अति आवश्यक है यानिकी कंटेंट कहीं से कॉपी पेस्ट किया हुआ नहीं होना चाहिए। क्योंकि बिना ओरिजिनल एवं अच्छे कंटेंट के चाहे वेबसाइट का डिजाईन एवं लेआउट कितना भी अच्छा क्यों न हो लेकिन उसमें लोगों का आना संभव नहीं है और उद्यमी इस काम में बहुत जल्दी असफल हो सकता है। इसलिए ध्यान रहे Blogging Business में सफलता का पहला मन्त्र ओरिजिनल एवं क्वालिटी कंटेंट ही है। जहाँ तक ब्लॉग को प्रमोट करने की बात है उसके लिए उद्यमी निम्न टिप्स का अनुसरण कर सकता है।

  • अपने जानने वालों एवं दोस्तों को अपने नए ब्लॉग के बारे में बताएं और उन्हें यदि इस ब्लॉग में दी गई जानकारी उपयोगी लगती हो तो उन्हें अन्य लोगों को भी इस बारे में बताने को कहें।
  • अपने ब्लॉग को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट करें।
  • अपने ब्लॉग को अनेक बुकमार्किंग साईट जैसे Scoop.it, Reddit इत्यादि में सबमिट करें।
  • सोशल नेटवर्किंग में एक्टिव रहे और अपने ब्लॉग पोस्ट शेयर करें ब्लॉग के नाम से फेसबुक पेज इत्यादि बनायें।
  • आपके टॉपिक से सम्बंधित जो अन्य ब्लॉग या वेबसाइट हों उन पर एक्टिव रहे और अपने ब्लॉग का लिंक कमेंट बॉक्स इत्यादि के माध्यम से सबमिट करें।
  • सम्बंधित ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट लिखकर अपने ब्लॉग का लिंक वहां प्रकाशित करने को कहें।
  • गूगल एड, फेसबुक इत्यादि के माध्यम से पेड विज्ञापन चलायें।          

ब्लॉग्गिंग से पैसे कैसे कमायें (How to Earn from Blogging)

ब्लॉग शुरू करने के तुरंत बाद ही उद्यमी का ब्लॉग कमाई करने के लिए पात्र नहीं हो जाता है बल्कि इसे कमाई का पात्र बनाने के लिए उद्यमी को घोर मेहनत एवं धैर्य की आवश्यकता होती है। कहने का आशय यह है की भले ही आप कितनी ही अच्छी जानकारी अपने ब्लॉग के माध्यम से प्रकाशित करें लेकिन यदि उस जानकारी को पढने लोग ही नहीं आते हैं तो फिर आपका ब्लॉग पैसे कैसे कमा सकता है? इससे पैसे कमाई करने के लिए ब्लॉग पर ट्रैफिक होना अत्यंत महत्वपूर्ण है जितना अधिक ट्राफिक होगा उद्यमी के पास कमाई करने के उतने ही अधिक विकल्प एवं अवसर मौजूद होंगे।

इसलिए ब्लॉग्गिंग शुरू करने के कम से कम छह महीने या एक साल तक भूल जाइये की आप इससे कुछ कमा पाने में कामयाब हो पाएंगे। जब तक की आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आना शुरू नहीं हो जाता तब तक न तो आपको कोई विज्ञापन मिलेंगे और न ही कोई प्रायोजित पोस्ट इत्यादि लिखने के पैसे।

हाँ इतना जरुर है की आप अपने विषय के मुताबिक इनमें एफिलिएट लिंक जोड़ पाने में सक्षम हो पाएंगे। वर्तमान में ब्लॉगर का कमाई का पोपुलर स्रोत एफिलिएट मार्केटिंग ही है लेकिन इसके अलावा बहुत सारे लोग गूगल एडसेंस को भी Blogging की कमाई का प्राथमिक स्रोत मानते हैं। ब्लॉग्गिंग से कमाई करने के और भी अनेकों तरीके हैं लेकिन सभी के लिए ब्लॉग पर निश्चित मात्रा में ट्रैफिक होना नितांत आवश्यक है।  

ब्लॉग से पैसे कैसे कमाते हैं?

जब आपके ब्लॉग में ट्रैफिक आना शुरू हो जाता है, तो आपके पास पैसे कमाने के कई विकल्प होते हैं। लेकिन गूगल एडसेंस सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है।

क्या मोबाइल से भी ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकते हैं?

मोबाइल से लिखने में परेशानी हो सकती है, लेकिन हाँ मोबाइल से भी Blogging शुरू की जा सकती है।   

अन्य लेख भी पढ़ें

2 thoughts on “Blogging क्या है? 2023 में अपना ब्लॉगिंग बिजनेस कैसे शुरू करें।”

Leave a Comment

error: Content is protected !!