ट्रांसपोर्ट बिजनेस कैसे शुरू करें? Transport Business Plan in Hindi.

भारत में सबसे अधिक लाभकारी व्यवसायों की लिस्ट में Transport Business भी शामिल है। यहाँ तेजी से सड़कों का विकास हो रहा है जिससे यातायात की सुविधा दुरुस्त हुई हैं। इसके अलावा नौकरी या अन्य व्यक्तिगत कारणों से मनुष्य अपने जीवन में कई शहरों को अपना घर बनाता है, तो उसे एक स्थान से दुसरे स्थान को न सिर्फ यात्रा करनी होती है। बल्कि अपने घर के सामान को भी एक स्थान से दुसरे स्थान में स्थानांतरित करने की आवश्यकता होती है।

इसके अलावा वर्तमान में लोगों की ऑनलाइन खरीदारी में बढती रूचि के चलते भी Transport Business को प्रोत्साहन मिला है। हमारा देश भारत अभी भी विकासशील देशों की श्रेणी में विद्यमान है, जिसका मतलब है की यहाँ पर सड़क कनेक्टिविटी की अपार संभावनाएँ हैं। हालांकि सरकारें देश के हर कोने को सड़कों से जोड़ने के लिए प्रयासरत हैं, लेकिन अभी भी ग्रामीण इलाकों में ऐसे एरिया भी हैं जहाँ सड़क तक पहुँचने के लिए लोगों को मीलों की यात्रा तय करनी पड़ती है।

transport business kaise kare

सड़कों की कनेक्टिविटी जितनी होगी उतनी ही परिवहन सेवाएँ भी व्यापक होंगी और उसी अनुपात में Transport Business के लिए नए नए अवसर उत्पन्न होंगे। वैसे यदि देखा जाय तो परिवहन सेवाएँ भी एक प्रकार से संचार का ही दूसरा रूप हैं । क्योंकि दुनिया में चाहे कोई भी मनुष्य हो कभी न कभी किसी परिवहन सेवा का इस्तेमाल करता ही है।

कहने का आशय यह है की Transport Business करने वाले ग्राहक के तौर पर पूरी दुनिया के लोग होते हैं, जो कभी भी उसके ग्राहक बन सकते हैं। मान लीजिये की आप किसी टूरिस्ट प्लेस पर टैक्सी किराये पर देने का काम करते हैं, तो जरुरी नहीं है की सिर्फ भारत के ही लोग आपके ग्राहक होंगे। बल्कि कभी कभी विदेशी लोग जो घुमने आये होंगे वे भी आपके ग्राहक हो सकते हैं।

Transport Business क्या है?

ऐसे व्यवसाय जो यात्रियों और उनके सामान को एक स्थान से दुसरे स्थान पर स्थानांतरित करने से जुड़े होते हैं Transport Business कहलाते हैं। इस तरह के व्यवसायों की सेवा कोई व्यक्ति, बिजनेस इकाई, विश्वव्यापी व्यापार साझेदार कोई भी ले सकता है। यह जरुरी नहीं है की सामान के साथ यात्री भी जाए ऐसा भी हो सकता है की कोई ग्राहक केवल अपना सामान ही स्थानांतरित करना चाहता हो ।

आम बोलचाल की भाषा में टैक्सी चालक, ऑटो चालक, ट्रक ड्राईवर, बस चालक सभी Transport Business से जुड़े हुए कर्मचारी हैं। और इन वाहनों के मालिक जिन्होंने इन ड्राईवर को काम पर रखा हुआ होता है वे ट्रांसपोर्ट बिजनेस करने वाले उद्यमी कहलाते हैं।

ट्रांसपोर्ट बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start Transport Business):

भारत में खुद का Transport Business शुरू करना बहुत ज्यादा कठिन तो नहीं है, लेकिन इसके लिए इच्छुक व्यक्ति को कुछ बुनियादी कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है। कहने का आशय यह जाता है की यदि आप खुद का ट्रांसपोर्ट व्यवसाय शुरू करने का विचार कर रहे हैं, तो आपको कुछ बुनियादी चरणों के बारे में जानकारी होना अत्यंत आवश्यक हो जाता है।

1. उचित ट्रांसपोर्ट बिजनेस का चुनाव करें  

अक्सर लोगों से यदि आप पूछें तो वे आपको यही बता पाएँगे की उन्हें Transport Business करना है। लेकिन जब आप उन्हें यह पूछते हैं की कौन सा ट्रांसपोर्ट बिजनेस करना है तो वे थोड़ा असहज हो जाते हैं। वैसे अधिकतर लोग ट्रांसपोर्ट बिजनेस का अर्थ ट्रक रखने के व्यापार से लगा देते हैं।

लेकिन केवल ट्रक रखना और उन्हें किराये पर देना ही परिवहन व्यवसाय की श्रेणी में नहीं आता। बल्कि अन्य भी कई बिजनेस जिनकी लिस्ट हम इस लेख के अंत में देने वाले हैं Transport Business Ideas की लिस्ट में शामिल हैं। इसलिए सर्वप्रथम उद्यमी को अपने लिए आदर्श ट्रांसपोर्ट बिजनेस का चयन करना होगा, जिसे वह शुरू करना चाहता है।

2. चयनित व्यवसाय के लाभ एवं हानियों का आकलन करें

Transport Business शुरू करने के लिए उद्यमी ने जिस भी बिजनेस का चुनाव किया हो, अब उसका अगला कदम उस व्यवसाय के लाभ और हानियों का मूल्यांकन करने का होना चाहिए। कोई भी व्यवसाय चाहे लोग उसे कितना भी अच्छा क्यों न कहें उसके लाभ होते हैं तो कुछ कमजोरियाँ या चुनौतियाँ भी उसमें होती ही होती हैं। इसलिए एक अच्छे उद्यमी को इन चुनौतियों के बारे में जानकर उनसे निबटने की योजना पहले ही बना लेनी चाहिए। ताकि बाद में उसका Transport Business विपरीत ढंग से प्रभावित न हो।

मान लीजिये की आप ट्रक का ट्रांसपोर्ट बिजनेस शुरू करने पर विचार कर रहे हैं । तो आपको अन्य राज्यों में ट्रक को आसानी स प्रवेश कैसे मिलेगा? अन्य राज्यों में इसके लिए क्या कानून एवं प्रावधान हैं उसकी सम्पूर्ण जानकारी होनी चाहिए। अन्यथा हो सकता है की एकदम वह चुनौती जब आपके सामने आए, तो आप उसे अच्छी तरह संभाल न पाएँ। और इसका खामियाजा आपके व्यवसाय को उठाना पड़े।

3. जरुरी हो तो वाहन खरदीने के लिए लोन लें

जब आप चयनित व्यवसाय से जुड़े लाभों और चुनौतियों का मूल्यांकन करने के पश्चात् इस नतीजे पर पहुँचते हैं की आपको वही Transport Business शुरू करना है। तो उसके बाद आपका अगला कदम उसके लिए वाहन खरीदने का होना चाहिए। वाहन आपकी बिजनेस की प्रकृति के हिसाब से अलग अलग हो सकता है। जैसे यदि आप टैक्सी किराये पर देने का व्यापार शुरू करना चाहते हैं, तो आपको कार और यदि ट्रक का ट्रांसपोर्ट बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो ट्रक खरीदने की आवश्यकता हो सकती है।

अधिकतर लोग जो Transport Business के लिए वाहन खरीदते हैं वे बैंक या वित्तीय संस्थानों से ऋण लेकर ही इन्हें खरीदने का निर्णय लेते हैं । इसमें आपको एकमुश्त डाउन पेमेंट करनी होती है, और बाकी रकम की महीने की किश्त बनाकर उसे लम्बे समय के लिए मासिक किस्तों में चुकाना होता है। हालांकि यदि आपके पास पर्याप्त पैसे हैं तो आपको ऋण लेने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि ऋण पर आपको उच्च दरों के साथ ब्याज भी देना पड़ सकता है।              

4. सभी क़ानूनी प्रक्रियाएं पूर्ण करें   

एक बार जब आप अपने व्यवसाय की प्रकृति का अच्छी तरह से मूल्यांकन कर लेते हैं, तो आप उसके बारे में और बेहतर जान पाते हैं । वैसे आप चाहें तो शुरूआती दौर में प्रोप्राइटरशिप स्वामित्व के तहत भी खुद का Transport Business शुरू कर सकते हैं। लेकिन  यदि आप अपनी व्यक्तिगत लायबिलिटी कम करना चाहते हैं, तो आप वन पर्सन कंपनी के तौर पर भी अपने व्यवसाय को रजिस्टर करा सकते हैं ।

व्यवसाय को वैधानिक स्वरूप प्रदान करने के अलावा आपको टैक्स रजिस्ट्रेशन, व्यवसाय के नाम का पैन कार्ड, बैंक में चालू खाता इत्यादि की भी आवश्यकता होती है । इसके अलावा आप अच्छी तरह जानते हैं की भारत में सभी प्रकार के वाहनों को रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (RTO) में रजिस्टर कराकर नंबर लेना अनिवार्य है।

चूँकि Transport Business में आपको वाहनों का इस्तेमाल व्यवसायिक तौर पर करना होता है, इसलिए इनका रजिस्ट्रेशन कमर्शियल वाहन के तौर पर होता है, जिन्हें पीली नंबर प्लेट जारी होती है। इन सबके अलावा उद्यमी को अलग अलग राज्यों में प्रवेश करने पर अलग अलग तरह के टैक्स और टोल इत्यादि का भी भुगतान करने की आवश्यकता होती है। हालांकि यह सब खर्चे उद्यमी अपने ग्राहकों से ही लेते हैं।

5. एक अच्छी टीम नियुक्त करें

भले ही आप कितने ही छोटे स्तर से खुद का Transport Business क्यों न शुरू कर रहे हों, और आपने चाहे इसके लिए सामान को चुना हो या यात्रियों को।आपको एक अच्छी टीम जिसमें ड्राईवर, हेल्पर, कोऑर्डिनेटर इत्यादि शामिल हों की आवश्यकता होती ही होती है।ड्राईवर भी आपको किसी ऐसे व्यक्ति को नहीं चुनना है जिसे ड्राइविंग तो आती हो लेकिन उसके पास ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड इत्यादि ही न हों।

कहने का आशय यह है की हो सकता है की आपको अपने Transport Business के लिए एक से अधिक ड्राईवरों की आवश्यकता हो । इन्हें काम पर रखने से पहले आपको सुनिश्चित करना होगा की इनके पास वैध ड्राइविंग लाइसेंस के अलावा आधार कार्ड, ड्राइविंग अनुभव और कम से कम 18 वर्ष से अधिक उम्र हो।

कुशल ड्राईवरों के अलावा आपको एक छोटा सा ऑफिस भी स्थापित करना होगा और वहाँ पर एक या एक से अधिक कोऑर्डिनेटर को नियुक्त करना होगा। एवं अपने ग्राहकों को उस ऑफिस का नंबर देना होगा, ताकि जरुरत पड़ने पर वे आपके ऑफिस में कॉल करके उनकी समस्या का समाधान पा सके।

Transport Business Ideas in Hindi.

1. कार किराये पर देने का व्यापार

कार किराये पर देने का व्यापार पर्यटन स्थलों और बड़े शहरों में बड़ा लोकप्रिय हो गया है। पर्यटक जब किसी पर्यटन स्थल पर आते हैं तो उन्हें उस स्थानीय एरिया में घुमने के लिए कार की आवश्यकता होती है, यही कारण है की वे कार किराये पर लेते हैं। इस तरह का Transport Business को सफल बनाने के लिए आप उस पर्यटक स्थल के आस पास स्थित होटलों से संपर्क कर सकते हैं।

इसके अलावा वर्तमान में बड़ी बड़ी कम्पनियां भी अपने ऑफिस के कार्यों के लिए टैक्सी मँगाने लगी है। कुछ कंपनियाँ तो ऐसी हैं जो एक दो गाड़ियों को हमेशा अपने ऑफिस के बाहर खड़ा रखती हैं ताकि कभी भी किसी भी कर्मचारी को आवश्यकता पड़ने पर वे उस कार को आसानी से ले जा सकें।     

2. एम्बुलेंस सर्विस

वर्तमान में चाहे कोई भी क्षेत्र हो हर जगह हॉस्पिटल एवं स्वास्थ्य केंद्र मौजूद हैं, ऐसे में इन्हें हमेशा एम्बुलेंस की आवश्यकता होती है। जो मरीजों को हॉस्पिटल लाने और हॉस्पिटल से ले जाने का काम करती हैं। एम्बुलेंस सर्विस भी Transport Business की लिस्ट में लाभकारी व्यवसाय के तौर पर शामिल है।

क्योंकि यह मेडिकल इमरजेंसी से जुड़ी हुई है, हालांकि एक औसतन शहर की तुलना में किसी मेट्रो शहर में इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करना ज्यादा लाभकारी हो सकता है। इसके लिए आपको हॉस्पिटल के साथ टाई अप करने की आवश्यकता होती है।     

3. पशुओं को परिवहन करने की सर्विस

बहुत सारे कारणों के चलते बकरी, मुर्गी एवं अन्य पशुओं को एक स्थान से दुसरे स्थान ले जाने की आवश्यकता होती है। ऐसे में यदि आप Transport Business शुरू करने की सोच रहे हैं तो इस व्यवसाय पर भी विचार कर सकते हैं। इसमें जरुरी नहीं है की आपको नया वाहन ही खरीदना है बल्कि आप पुराना वाहन खरीदकर भी इस तरह का यह बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

लेकिन पशुओं को परिवहन करने के लिए आपको अपने वाहन को कस्टमाइज करने की भी आवश्यकता होती है । जैसे मुर्गियों लो परिवहन करने के लिए पीछे का दरवाजा जालीदार होना चाहिए, अन्यथा गर्मी से मुर्गियों की मौत भी हो सकती है।     

4. पैकर्स और मूवर्स

आप चाहे सार्वजनिक क्षेत्र में काम कर रहे हों, या फिर निजी क्षेत्र में आप यह कह नहीं सकते की जिस शहर में आप आज काम कर रहे हैं आप ताउम्र उसी शहर में काम करते रहेंगे। जी हाँ नौकरी में लोगों के एक शहर से दुसरे शहर में ट्रान्सफर होना आम बात है। शहरों में हर दिन हजारों लोग किसी दुसरे शहर में शिफ्ट हो रहे होते हैं ।

पैकर्स और मूवर्स नामक इस Transport Business में उद्यमी को अपनी सेवाएँ ऐसे ही लोगों को देनी होती है, जो किसी कारणवश एक शहर से दुसरे शहर में ट्रान्सफर हो रहे हों। और साथ में वे अपना पूरा सामान भी ले जाना चाह रहे हों।    

5. बस किराये पर देने का व्यापार

सड़कों पर केवल सरकारी बसें ही नहीं दौड़ती बल्कि प्राइवेट बसें भी यात्रियों को एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाने का कार्य करती हैं। नियमित तौर पर आप अपनी बस को किसी रूट पर लगा सकते हैं, और जब किसी शादी, विवाह या अन्य कारणों से कोई बस को बुक करना चाहता हो तो आप यह भी कर सकते हैं।

इसके अलावा लगभग सभी स्कूल अपने विद्यार्थियों को पिक – अप और ड्राप की सुविधाएँ भी देती हैं। इसलिए आप चाहें तो किसी स्कूल में बस को किराये पर लगाकर भी इस Transport Business से पैसे कमा सकते हैं।   

6. ट्रक ट्रांसपोर्टेशन सर्विस

सड़कों के माध्यम से आज भी ट्रक द्वारा ही समान एक जगह से दूसरी जगह पहुँचाया जाता है। कहने का आशय यह है की माल की आवजाही बनाये रखने में ट्रक Transport business की अहम भूमिका है। हालांकि जब किसी को बहुत बड़ी मात्रा में माल मँगाना होता है तो वह मालगाड़ी से भी समान मंगा सकता है। लेकिन आम तौर पर छोटे व्यापारियों द्वारा माल की आवजाही के लिए ट्रक ट्रांसपोर्टेशन का ही इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए यह भी ट्रांसपोर्ट व्यवसायों में सबसे लाभकारी व्यवसाय में शामिल है।      

7. ई रिक्शा सर्विस

शहरों में छोटी दूरी को तय करने के लिए लोग ई रिक्शा का इस्तेमाल करना पसंद कर रहे हैं। इसलिए इस व्यवसाय को आप एक व्यक्तिगत व्यक्ति के तौर पर यानिकी जहाँ पर आप अपनी ई रिक्शा को खुद ही चला रहे हों, भी शुरू कर सकते हैं ।

और यदि आपके पास अधिक पैसे हों, और आप इस Transport Business से अधिक पैसे कमाना चाहते हों, तो आप दो तीन ई रिक्शा खरीदकर इन्हें प्रतिदिन के हिसाब से किराये पर चलाने के लिए दे सकते हैं। ध्यान रहे ये बैटरी से चालित होते हैं, तो इनमें ईधन का खर्चा नहीं होता है। लेकिन आपको इनके लिए चार्जर पॉइंट अवश्य बनाना होगा।      

8. कूरियर सर्विस

यह तो हम सब अच्छी तरह से जानते हैं की वर्तमान में लोग ऑनलाइन खरीदारी को कितना पसंद कर रहे हैं। यही कारण है की लगभग सभी ई कॉमर्स कंपनियों चाहे वह अमेजन हो, फ्लिप्कार्ट हो या फिर कोई अन्य सभी को समान को ग्राहक तक पहुँचाने के लिए कूरियर की आवश्यकता होती है। आप चाहें तो इस तरह के Transport Business को किसी लोकप्रिय कूरियर कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेकर भी शुरू कर सकते हैं।    

9. बाइक किराये पर देने का व्यापार

बाइक किराये पर देने का व्यापार भी पर्यटक स्थलों से जुड़ा हुआ व्यापार है । यदि आप किसी पर्यटक स्थल पर कोई Transport Business शुरू करना चाहते हैं, तो आप बाइक किराये पर देने का व्यापार शुरू कर सकते हैं ।

हालांकि यहाँ पर हर दिन आपका सामना एक नए और अंजान ग्राहक से होगा, इसलिए आपको अपनी बाइक किराये पर कैसे देनी है यानिकी ग्राहक को सिक्यूरिटी के तौर पर क्या जमा करना होगा की आप उसे बाइक किराये पर दें और जब वह आपकी बाइक वापस करे तब आप उसकी सिक्यूरिटी वापस करें। ऐसी कोई प्रक्रिया विकसित करनी होगी।

10. दूध ट्रांसपोर्ट का बिजनेस

100-200 किलोमीटर या इससे भी ज्यादा रेडियस पर कहीं जाकर एक दूध प्रसंस्करण प्लांट होता है। इसलिए यदि आप कोई Transport Business करने की सोच रहे हैं तो आप अपने एरिया के दूध प्रसंस्करण प्लांट में जाकर पता कर सकते हैं, की क्या उन्हें किसी ऐसे वाहन की आवश्यकता है। जो किसी एरिया विशेष में दूध एकत्र करके उनके प्लांट तक पहुँचा सके।

आम तौर पर ग्रामीण इलाकों से उत्पादित दूध को एकत्र करने हेतु दूध प्रसंसकरण व्यवसाय करने वाली कंपनी सुबह या शाम या दोनों समय एक गाड़ी भेजती है। जिसका काम एक एरिया विशेष में उत्पादित दूध को एकत्र करके प्लांट तक पहुँचाने का होता है।  

अन्य लेख भी पढ़ें

ट्रेवल एजेंसी बिजनेस कैसे शुरू करें

भारत में कार ड्राइविंग स्कूल कैसे शुरू कर सकते हैं

कार धुलाई का बिजनेस कैसे शुरू करें

error: Content is protected !!