Mudra Loan क्या है? बिजनेस के लिए मुद्रा लोन कैसे लें।

यदि आप कोई छोटा बिजनेस करने की सोच रहे हैं, तो Mudra Loan आपके लिए काफी उपयोगी हो सकता है। वह इसलिए क्योंकि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत कोई भी इच्छुक व्यक्ति रूपये 50000 से 10लाख रूपये तक का Mudra Loan ले सकता है। लेकिन जैसा की सभी ऋणों के मामले में होता है, की ऋण किन किन को दिया जाएगा उनके पात्रता सम्बन्धी नियम, कितना दिया जायेगा, कब दिया जायेगा, ब्याज क्या होगा, सिक्यूरिटी या जमानत के तौर पर कुछ गिरवी रखना होगा की नहीं। इत्यादि कई सारे प्रश्न लोन लेने के इच्छुक उद्यमी के मन में स्वत: ही आ जाते हैं।

जैसा की हमने बताया की Mudra Loan प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत दिया जाता है, इस योजना की शुरुआत वर्ष 2015 में सूक्ष्म व्यवसायों के विस्तार और उनको वित्तीय मदद प्रदान करने के उद्देश्य से की गई थी। इस योजना के तहत कोई भी उद्यमी अपने व्यवसाय को विस्तृत करने, बढ़ाने, पुनर्जीवित करने या फिर नया उद्यम शुरू करने के लिए रूपये 10 लाख तक का लोन ले सकता है।

बहुत सारे लोग जो खुद का कोई व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, लेकिन पैसों की कमी के कारण वे अपने बिजनेस आईडिया को धरातल के पटल पर नहीं उतार पाते हैं। ऐसे लोगों के लिए Mudra Loan किसी वरदान से कम साबित नहीं हुआ है। यदि आप भी उनमें से हैं जो अपने खुद का कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, आपको अपने बिजनेस आईडिया पर पूरा विश्वास है, लेकिन उसे शुरू करने के लिए आपके पास पैसों की कमी हो रही है, तो आप भी प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत Mudra Loan के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इससे पहले की हम इस विषय पर और अधिक जानकारी देने का प्रयत्न करें, आइये सबसे पहले यही जानने की कोशिश करते हैं की यह ऋण है क्या?

Mudra Loan क्या है?

MUDRA का फुल फॉर्म Micro-Units Development and Refinance Agency है, जिसका हिंदी में अर्थ सूक्ष्म इकाइयों का विकास और पुनर्वित्त एजेंसी होता है। इस योजना के तहत दिए जाने वाले ऋणों को तीन श्रेणियों शिशु, किशोर और तरुण में विभाजित किया गया है। शिशु श्रेणी के तहत 50000 रूपये तक का, किशोर श्रेणी के तहत रूपये 50 हज़ार से 5 लाख रूपये तक का और तरुण के तहत 5 लाख से 10 लाख रूपये तक का ऋण दिए जाने की व्यवस्था की गई है। Mudra Loan प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत दिया जाने वाला ऋण है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना क्या है

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शुरुआत वर्ष 2015 में केंद्र सरकार द्वारा छोटे विक्रेताओं जैसे गली मोहल्लों में स्थित दुकानदारों, कारीगरों इत्यादि को उनके व्यवसाय को विस्तृत करने, पुनर्जीवित करने, या नया व्यवसाय शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से की गई थी। जो की बीते सात सालों में अपने उद्देश्य को पूरा करते हुए दिखी।

मुद्रा की अधिकारिक वेबसाइट के एक आंकड़े के मुताबिक प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत दिए गए Mudra Loan के आंकड़े कुछ इस प्रकार हैं।

वित्तीय वर्षस्वीकृत लोन की संख्यास्वीकृत राशिवितरित राशि
2015-1634880924137449.27 करोड़132954.73 करोड़
2016-1739701047180528.54 करोड़175312.13 करोड़
2017-1848130593253677.10 करोड़246437.40 करोड़
2018-1959870318321722.79 करोड़311811.38 करोड़
2019-2062247606337495.53 करोड़329715.03 करोड़
2020-2150735046321759.25 करोड़311754.47 करोड़
2021-2245289403286538.25 करोड़278906.45 करोड़

इस योजना के तहत दिए जाने वाले Mudra Loan को तीन श्रेणियों में विभाजित किया गया है।

शिशु लोन – इस श्रेणी के तहत रूपये 50000 तक का लोन दिए जाने का प्रावधान है। 

किशोर लोन –   ऐसे उद्यमी जिन्हें 50 हज़ार रूपये से 5 लाख रूपये तक के लोन की आवश्यकता है, वे इस श्रेणी के तहत लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं ।

तरुण लोन –  Mudra Loan की अंतिम श्रेणी तरुण है, जिसके तहत ऐसे उद्यमी ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं, जिन्हें रूपये 5 लाख से 10 लाख रूपये तक के लोन की आवश्यकता है।

मुद्रा लोन लेने के फायदे  

mudra loan ke fayde

Mudra Loan की कई विशेषताएं और फायदे हैं, उनमें से कुछ प्रमुख विशेषताएं और फायदे निम्नलिखित हैं।

  • इस ऋण की पहली विशेषता यह है की इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की आप ग्रामीण भारत से हैं या शहर से। इस ऋण को कहीं से भी प्राप्त किया जा सकता है।
  • स्टार्टअप या सूक्ष्म लघु उद्यमों द्वारा लोन के लिए अप्लाई किया जा सकता है ।   
  • ऐसे उद्यमी जिन्हें कम राशि की आवश्यकता है वे मामूली ब्याज दरों पर बिजनेस लोन ले सकते हैं।
  • चूँकि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत दिए जाने वाले Mudra Loan की क्रेडिट गारंटी सरकार द्वारा ली जाती है। इसलिए यदि कोई उधारकर्ता अपना ऋण चुकाने में असमर्थ होता है। तो बैंक या वित्तीय संस्थान को हुए नुकसान की भरपाई सरकार करती है।
  • गली मोहल्लों में उपलब्ध दुकानदार, खाद्य विक्रेता इत्यादि इस योजना के तहत ऋण लेने के लिए पात्र हैं।
  • जिन क्षेत्रों में बुनियादी बैंकिंग सेवाएँ उपलब्ध नहीं है, उस क्षेत्र के लोग भी मुद्रा योजना के तहत ऋण प्राप्त कर सकते हैं।
  • Mudra Loan को पुर्नभुगतान करने के समय को सात साल तक बढ़ाया जा सकता है।
  • इस योजना के तहत महिला उद्यमी रियायती ब्याज दरों पर ऋण प्राप्त कर सकती हैं।
  • पुनर्वित्त योजनाओं के लिए नामित ऋणदाताओं की सूची पहले से उपलब्ध होती है।
  • ऐसे व्यक्ति जो खुद का सूक्ष्म उद्यम शुरू करके कमाई करना चाहते हैं, वे इस प्रकार की माइक्रो क्रेडिट योजना का लाभ उठाने के लिए पात्र हैं।
  • चूँकि Mudra Loan Scheme का कोलाब्रेशन मेक इन इंडिया कार्यक्रम के साथ भी है, जिसके तहत सरकार इनोवेशन, टेक्नोलॉजी, कौशल विकास और सर्वोत्तम विनिर्माण ढांचा बनाना चाहती है। इसलिए यह देश को आत्मनिर्भर बनाने में भी मददगार है।
  • इस योजना के तहत ऋण लेने के लिए किसी प्रकार की जमानत या सिक्यूरिटी की आवश्यकता नहीं होती है।
  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत लिए गए ऋण का इस्तेमाल केवल और केवल व्यवसायिक उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है। जिससे स्वरोजगार में बढ़ोत्तरी होती है।

उपर्युक्त लाभों के अलावा हाल ही में भारत सरकार ने शिशु लोन की श्रेणी के तहत लिए गए ऋण के उधारकर्ताओं के लिए कुछ नए लाभों की घोषणा की है, जो निम्न हैं।

  • शिशु लोन श्रेणी में उधारकर्ताओं को 1500 करोड़ रूपये तक की राहत राशि दिए जाने का प्रावधान है।
  • इसी श्रेणी के उधारकर्ताओं को 1500 करोड़ रूपये तक की ब्याज पर सब्सिडी दिए जाने की व्यवस्था की गई है।
  • इसके अलावा तेजी से ऋण प्राप्त करने वाले उधारकर्ताओं को उनके वार्षिक ब्याज पर 2% की छूट का भी प्रावधान किया गया है।

मुद्रा कार्ड क्या है

Mudra Loan में मुद्रा कार्ड की अहम् भूमिका है, जब किसी व्यक्ति द्वारा इस ऋण के लिए आवेदन किया जाता है, और उसका आवेदन सफलतापूर्वक स्वीकार भी कर लिया जाता है। तो उसके बाद उसी बैंक में उधारकर्ता को एक अकाउंट खोलना होता है जिसके साथ मुद्रा कार्ड जारी किया जाता है। यह भी एक डेबिट कार्ड है, जिसका इस्तेमाल उधारकर्ता द्वारा खाते से ऋण राशि को निकालने के लिए किया जाता है । मुद्रा कार्ड की और अधिक जानकारी इस लेख में दी गई है।

Mudra Loan लेने के लिए पात्रता

कोई भी भारतीय नागरिक जो सेवा क्षेत्र में या विनिर्माण क्षेत्र में कोई बिजनेस करने की योजना बना रहा है जिसके लिए उसे रूपये 10 लाख तक के लोन की आवश्यकता है । वह किसी भी सार्वजनिक बैंक, निजी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, स्माल फाइनेंस बैंक, सूक्ष्म वित्त संस्थान में जाकर Mudra Loan के लिए अप्लाई कर सकता है। इसके अलवा कुछ प्रमुख पात्रता मानदंड इस प्रकार से हैं ।

  • आवेदक की उम्र कम से कम 18 वर्ष और अधिक से अधिक 65 वर्ष होनी चाहिए।
  • कोई भी नई या पहले मौजूद बिजनेस इकाई ऋण के लिए आवेदन कर सकती है।
  • यह कोलेटरल फ्री लोन होता है इसलिए किसी भी प्रकार की थर्ड पार्टी सिक्यूरिटी और कोलेटरल की आवश्यकता नहीं होती है।
  • कोई भी सार्वजनिक बैंक, निजी क्षेत्र का बैंक, सूक्ष्म वित्तीय संस्थान और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक Mudra Loan के लिए ऑफर कर सकते हैं।  

मुद्रा लोन के लिए कौन कौन अप्लाई कर सकता है    

कोई भी विक्रेता दुकानदार, कृषि क्षेत्र से जुड़े उद्यमी, फ़ूड प्रोडक्शन से जुड़े उद्यमी, हस्तशिल्प से जुड़े कारीगर, सूक्ष्म उद्योगों से जुड़े विनिर्माणकर्ता, स्वरोजगारीत उद्यमी, रिपेयरिंग दुकान के मालिक, सेवा क्षेत्र से जुड़ी कंपनी, ट्रक के मालिक इत्यादि Mudra Loan के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • लघु उद्यम में शामिल उद्यमी इकाई के लिए मशीनरी और उपकरणों की खरीदारी के लिए भी इस योजना के तहत ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • मुद्रा कार्ड के जरिये कार्यशील पूँजी के लिए ऋण लिया जा सकता है।
  • ट्रांसपोर्ट व्यवसाय शुरू करने के लिए वाहन खरीदने हेतु भी लोन लिया जा सकता है।
  • मुर्गी पालन, मधुमक्खी पालन, डेरी फार्मिंग इत्यादि कृषि से सम्बंधित व्यवसायों के लिए भी ऋण लिया जा सकता है।
  • जो व्यवसायिक कार्यों के लिए ट्रेक्टर, टिलर , दो पहिया वाहन इत्यादि इस्तेमाल में लाते हैं वे भी Mudra Loan के लिए आवेदन कर सकते हैं।     

मुद्रा लोन के लिए क्या क्या डाक्यूमेंट्स चाहिए?

इच्छुक उद्यमी जो अपने व्यवसाय को बढ़ाने, पुर्नजीवित करने या फिर नया उद्यम स्थापित करने के लिए लोन की तलाश में है। उसे Mudra Loan लेने के लिए कई सारे दस्तावेजों की आवश्यकता हो सकती है जिनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

  • ऋण की श्रेणी के आधार पर सही जानकारी के साथ भरा गया आवेदन फॉर्म।
  • पहचान प्रमाण के तौर पर आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या पासपोर्ट में से किसी एक दस्तावेज की कॉपी।
  • पता प्रमाण के तौर पर इलेक्ट्रिसिटी बिल, टेलीफोन बिल, पानी बिल, रेंट एग्रीमेंट, जमीन की रजिस्ट्री इत्यादि में से किसी एक की कॉपी।
  • आवेदक की दो पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ।
  • यदि लागू हो तो आवेदक का जाति प्रमाण पत्र।
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट, बिजनेस प्लान या जो मशीनरी, उपकरण उद्यमी खरीदने के लिए Mudra Loan ले रहा हो उसकी कोटेशन ।
  • पिछले दो वर्षों का फाइल किया हुआ इनकम टैक्स रिटर्न का ब्यौरा।

मुद्रा लोन पर कितना ब्याज देना होता है? 

किसी भी बैंक से बिजनेस लोन लेने के निर्णय में उस पर लगने वाली ब्याज दर महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यही कारण है की कोई भी लोन लेने से पहले ऋण लेने वाले व्यक्ति द्वारा जो चीज देखी जाती है, वह होता है उस ऋण पर लगने वाला ब्याज। जहाँ तक Mudra Loan पर लगने वाले ब्याज दरों की बात है, यह आवेदक की प्रोफाइल पर निर्भर करती है।

यहाँ पर एक बात समझ लेनी चाहिए की आवेदक की वित्तीय प्रोफाइल जितनी मजबूत होगी, बैंक को उसके पैसों के वापस होने की उतनी ही अधिक उम्मीद होगी, इसलिए इस स्थिति में ब्याज की दर उतनी ही कम होती जाएगी। यद्यपि सभी सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के बैंकों द्वारा Mudra Loan ऑफर किया जा रहा है । ब्याज दरों को लेकर सभी बैंकों की अपनी अलग अलग नीतियाँ होती हैं, इसलिए अलग अलग बैंकों में अलग अलग ब्याज दरें निर्धारित हो सकती हैं।

कहने का अभिप्राय यह है की Mudra Loan के लिए पहले से कोई निर्धारित ब्याज दरें नहीं हैं। बल्कि किस आवेदक के लिए कितनी ब्याज दरें होंगी, यह अधिकार उधार देने वाले बैंक और वित्तीय संस्थान के पास ही है।

Mudra Loan के लिए अप्लाई कैसे करें?

कोई भी इच्छुक विक्रेता जो Mudra Loan के लिए अप्लाई करना चाहता हो, उसके पास आवेदन करने के दो तरीक विद्यमान हैं। ऑफलाइन तरीका और ऑनलाइन तरीका।

अप्लाई करने का ऑफलाइन तरीका   

  1. इस लेख में बताये गए निर्देशों के आधार पर अपने डाक्यूमेंट्स तैयार कर लें ।
  2. उस बैंक या वित्तीय संस्थान की शाखा में जाएँ जहाँ से आप Mudra Loan के लिए अप्लाई करना चाहते हैं।
  3. बैंक जाने से पहले यह सुनिश्चित कर लें की आपके पास अपने बिजनेस की योजना, प्रोजेक्ट रिपोर्ट और यदि मशीनरी और उपकरण खरीदने के लिए लोन ले रहे हैं तो उसकी कोटेशन होनी चाहिए।
  4. अपनी पात्रता और आवश्यकता के अनुसार मुद्रा लोन की उस श्रेणी का चुनाव करें जिसके तहत आप लोन लेना चाहते हों। यानिकी शिशु, किशोर, तरुण में से किसी एक श्रेणी का चुनाव करें। और आवेदन फॉर्म को पूरा भरें।
  5. उसके बाद इस आवेदन फॉर्म के साथ जरुरी कागजों कागजों को संग्लग्न करके और अपनी पासपोर्ट फोटोग्राफ के साथ बैंक की शाखा में सबमिट कर दें।
  6. उसके बाद उधार देने वाला बैंक आपके द्वारा दी गई जानकारी और दस्तावेजों को वेरीफाई करता है, और सब कुछ सही पाए जाने पर Mudra Loan स्वीकृत हो जाता है।

अप्लाई करने का ऑनलाइन तरीका

  1. सबसे पहले आपको उस बैंक या फाइनेंसियल इंस्टिट्यूशन को चुनना होगा, जिससे आप लोन लेना चाहते हैं।
  2. उसके बाद उस बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ और Mudra Loan के आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करें, कुछ बैंक ऑनलाइन अप्लाई करने का भी विकल्प देते हैं जो पहले आपसे कुछ ही डिटेल्स पूछते हैं, उसके बाद कॉल करके आपको लोन लेने का पूरी प्रक्रिया समझाते हैं।
  3. फॉर्म डाउनलोड करने के बाद उसका एक प्रिंट आउट ले लें और उसमें जो भी डिटेल्स माँगी गई हों, सही सही से भर दें।
  4. अब इस फॉर्म के साथ जरुरी दस्तावेजों को संग्लग्न करें और सम्बंधित बैंक की नजदीकी शाखा में जाकर इसे सबमिट कर दें ।
  5. इस प्रक्रिया में जब आप फॉर्म के साथ सभी जरुरी दस्तावेज संग्लग्न करके सबमिट कर देते हैं। तो उधार देने वाला बैंक इन्हें वेरीफाई करता है, और सभी डिटेल्स सही पाए जाने पर Mudra Loan स्वीकृत कर देता है।
प्रश्न – अधिक से अधिक कितने तक का मुद्रा लोन लिया जा सकता है?

उत्तर – अधिक से अधिक 10 लाख रूपये तक का लोन इस योजना के तहत दिया जाता है ।

प्रश्न – क्या इस ऋण योजना के तहत कोई सब्सिडी मिलती है?

उत्तर – नहीं, इस योजना के तहत किसी प्रकार की कोई सब्सिडी नहीं मिलती है।

यह भी पढ़ें-

बिजनेस लोन क्या है और कैसे मिलेगा?

शार्क टैंक क्या है? उद्यमियों की कैसे मदद करता है.

error: Content is protected !!