छोटे बिजनेस को बड़ा कैसे करें? बिजनेस बढ़ाने के 10 तरीके।

कोई भी उद्यमी जब खुद का बिजनेस शुरू करता है, तो ऐसा करने के पीछे उसके कई सपने होते हैं। लेकिन जो सबसे बड़ा सपना किसी भी उद्यमी का व्यापार के प्रारम्भिक काल में होता है, वह यह होता है की किसी तरह उसका व्यवसाय लाभ कमाने में सफल रहे। लेकिन यह भी सच है की बिजनेस से लाभ कमाना उतना भी आसान नहीं है, जितना यह सुनने में लगता है। व्यापार की अपनी विशेषता है की इसमें निरंतर चुनौतियाँ आती रहती हैं, जिनसे निपटने के लिए उद्यमी को हर समय तैयार रहने की आवश्यकता होती है।

एक ऐसी ही चुनौती उद्यमी के सामने तब आती है, जब उसका व्यवसाय थोड़ा बहुत लाभ तो कम रहा होता है। लेकिन उद्यमी की अपेक्षा के मुताबिक लाभ नहीं कमा रहा होता है, उस स्थिति में जब उद्यमी और अधिक लाभ कमाने की योजना बनाता है, तो उसे लगता है की पहले उसको अपने व्यवसाय का आकार बड़ा करना होगा। तभी वह अपनी अपेक्षा के मुताबिक लाभ प्राप्त करने में सफल हो पाएगा।

कारण भले जो भी हों, लेकिन सच्चाई यही है की यदि आपका बिजनेस बढ़िया चल रहा है तो आप उसे बड़ा करने की अवश्य सोचेंगे । तो अब सवाल यह उठता है की उद्यमी अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करने के लिए क्या क्या तरीके अपना सकता है। इस लेख के माध्यम से आज हम यही जानने की कोशिश करेंगे।

Business kaise badhaye

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की जब भी आप अपने बिजनेस को बढ़ाने के तरीकों के बारे में सोचते हैं, तो ध्यान रखिये ऐसा कोई तरीका नहीं है जिसे अपनाकर आप रातोंरात अपने बिजनेस को बड़ा कर देंगे । हालांकि और अधिक चाहत रखने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन अधिक चाहत के चक्कर में कोई गलत कदम उठाने में बुराई ही बुराई है। इसलिए बिजनेस बढ़ाने की चाह में कोई भी गलत कदम उठाने से बचें। यहाँ पर हम कुछ ऐसे टिप्स दे रहे हैं, जिन्हें उद्यमी अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करने के लिए अनुसरण में लाते रहते हैं।

आप भी अपने छोटे व्यवसाय को बड़ा करने के लिए इन तरीकों का अनुसरण कर सकते हैं, तो चलिए शुरू करते हैं।

1. अपने उत्पादों को सेवाओं में वृद्धि करें

आपका व्यवसाय आपके उत्पादों या सेवाओं पर टिका होता है, यदि अभी यह लाभ कमा रहा है, तो इसका सीधा सा मतलब है की ग्राहक आपके प्रोडक्ट या सर्विसेज को पसदं कर रहे हैं। इसलिए यही समय होता है जब आपकी कंपनी कुछ और प्रोडक्ट या सेवाएँ भी लांच कर सकती हैं। उत्पादों या सेवाओं में विविधता आपके व्यवसाय को बढ़ाने में सहायक होती है।

इस प्रक्रिया के माध्यम से आप अपने ग्राहकों को प्रोडक्ट या सर्विसेज की एक व्यापक श्रेणी चुनने के लिए दे तो पाते हैं, लेकिन यही पर बात खत्म नहीं हो जाती। बल्कि आपको समय समय पर यह भी जांचते रहने की आवश्यकता होती है की कौन से प्रोडक्ट/सर्विसेज अच्छा कर रहे हैं। इसलिए उत्पादों या सेवाओं में वृद्धि करना भी छोटे बिजनेस को बड़ा करने का एक अच्छा तरीका है।

2. अपने ग्राहकों को जानें  

अपने ग्राहकों को जानने से मतलब सिर्फ उनका नाम, नंबर, ईमेल आईडी इत्यादि जानना ही नहीं है। बल्कि उनकी पसंद, नापसंद, आपके प्रोडक्ट या सेवा में उन्हें क्या पसंद है और क्या नहीं है इत्यादि जानना भी आवश्यक है। ताकि उद्यमी अपने उत्पाद या सेवाओं में ग्राहकों की आवश्यकता के अनुसार परिवर्तन कर सके।

ग्राहक क्या चाहते हैं? इसके लिए उद्यमी ग्राहकों से फीडबैक, सर्वे इत्यादि ले सकता है। और उनकी आवश्यकताओं के मुताबिक प्रोडक्ट या सर्विस विकसित कर सकता है। ग्राहकों को सर्वे और फीडबैक देने के लिए आकर्षित करने हेतु उद्यमी चाहे तो अच्छी प्रतिक्रिया देने वाले ग्राहकों को ईनाम देकर सम्मानित भी कर सकता है।

हमेशा ग्राहक ऐसी कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस खरीदना पसंद करते हैं, जो उनकी पसंद, आवश्यकता, समस्या का ध्यान रखती है। और इसके लिए वे अन्य की तुलना में अधिक मूल्य देने से भी पीछे नहीं हटते हैं। इसलिए ग्राहकों की आवश्यकता, इच्छा, पसंद, नापसंद को जानना किसी भी व्यवसायिक इकाई के लिए अति आवश्यक होता है। और आप प्राप्त डेटा का इसका इस्तेमाल अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करने के लिए भी कर सकते हैं ।

3. अपने बिजनेस की वेबसाइट बनाएँ

भले ही आप भारत के किसी भी कोने से अपना बिजनेस कर रहे हों, लेकिन आज के दौर में जरुरी नहीं है की वहाँ की स्थानीय जनता ही आपके प्रोडक्ट या सर्विस खरीदेगी। आप चाहें तो अपने व्यवसाय की एक वेबसाइट बना सकते हैं, और उस वेबसाइट पर अपने उत्पादों और सेवाओं की न सिर्फ डिटेल्स बल्कि उन्हें खरीदने का विकल्प भी ग्राहकों को दे सकते हैं। और कोई परेशानी महसूस होने पर ग्राहकों को संपर्क सूत्र से संपर्क करने का आग्रह कर सकते हैं।

वर्तमान में वर्डप्रेस और विभिन्न प्लगइन की मदद से बिना कोडिंग के भी वेबसाइट आसानी से बनाई जा सकती है। और आप चाहें तो किसी वेब डेवलपर की मदद भी इस काम के लिए ले सकते हैं। वेबसाइट बनाने के कई फायदे होते हैं लेकिन सबसे बड़ा फायदा यह होता है की दुनिया के किसी भी कोने से ग्राहक आपके प्रोडक्ट/सर्विस को देख सकते हैं और खरीद सकते हैं।

इसके अलावा अपनी वेबसाइट में आकर्षक लैंडिंग पेज बनाकर आप गूगल एड, फेसबुक इत्यादि में विज्ञापन चलाकर भी काफी ग्राहकों को अपने प्रोडक्ट और सर्विसेज बेच सकते हैं। वेबसाइट होने से आपका व्यवसाय लोकेशन की बेड़ियों में जकड़ा नहीं रहता है।

4. विश्लेषण पर पूरा ध्यान दें

बहुत सारी बड़ी कम्पनियां अपने बिजनेस को और अधिक बढ़ाने के लिए डाटा खरीदती हैं। लेकिन चूँकि आपका बिजनेस छोटा है और आप उसे ही बड़ा करने की सोच रहे हैं, तो आपके लिए डाटा खरीदने में पैसे खर्च करना व्यवहारिक नहीं होगा। लेकिन आप चाहें तो आपके अपनी वेबसाइट पर आने वाले ट्राफिक का एनालिटिक्स आँकड़ा गूगल एनालिटिक्स के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। और उसका बारीकी से विश्लेषण कर सकते हैं की किस प्रकार और कौन सी लोकेशन पर रहने वाले लोग आपके बिजनेस के बारे में क्या राय रखते हैं।

इसके अलावा यदि आप गूगल एड या फेसबुक इत्यादि के माध्यम से पेड एड कैंपेन चलाते हैं। तो ये प्लेटफोर्म भी आपको आपके एड का सही से विश्लेषण करने के लिए कई तरह का डाटा प्रदान करते हैं। डाटा का विश्लेषण करके आप अपने प्रोडक्ट/ सर्विसेज, मार्केटिंग रणनीति इत्यादि में बदलाव करके अपने छोटे बिजनेस को बड़ा बनाने के लिए प्रयास कर सकते हैं।

5. हमेशा बैकअप प्लान तैयार रखें

आपने आम बोलचाल की भाषा में भी सुना होगा की बिजनेस में रिस्क बहुत है। जी हाँ बिलकुल सही सुना है व्यापार में जोखिम बहुत है क्योंकि इसे बहुत सारी ऐसी चीजें प्रभावित करती हैं, जिनका पहले से ही अनुमान लगाना लगभग असंभव है। क्योंकि बिजनेस को प्रभावित करने वाली सभी चीजों को उद्यमी कण्ट्रोल नहीं कर सकता है, इसलिए उद्यमी के पास हमेशा एक बैकअप प्लान होना चाहिए ।

यह बैकअप प्लान उद्यमी को अपने व्यवसाय को उस संकट की घड़ी से निकालने में मदद करेगा । उद्यमी चाहे तो अपने व्यवसाय का पहले से बीमा कराके रखे, ताकि प्रकृति प्रद्दत या कुछ और संकट खड़ा होने पर भी उद्यमी का बिजनेस बुरी तरह से प्रभावित न हो।

6. ऋण लेने से न झिझकें

यह सच है की जब आप अपना बिजनेस शुरू कर रहे होते हैं, और अब जब आप अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करने का सोच रहे हैं तो दोनों स्थितियों में आपको धन की आवश्यकता तो होती ही होती है। यहाँ तक की बड़ी बड़ी कंपनियाँ जिनका हजारों करोड़ों का टर्नओवर होता है, वे भी अपने बिजनेस को और बड़ा करने के लिए बैंकों इत्यादि से ऋण ही लेते हैं।

अपने छोटे व्यवसाय को बड़ा करने में पैसा सबसे महत्वपूर्ण होता है, इसलिए यदि आपके पास अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए पर्याप्त पैसे नहीं हैं, तो आप बैंकों, या अन्य वित्तीय संस्थानों से ऋण भी ले सकते हैं। ऋण के लिए आवेदन करते समय चार्जेज और ब्याज पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। हर उधारकर्ता के उधार देने के नियम अलग अलग होते हैं, लेकिन क्रेडिट स्कोर एक ऐसी चीज है जिसे हर उधारकर्ता उधार देते समय देखता है। इसलिए अपने क्रेडिट स्कोर को अच्छा करने का निरंतर प्रयास करते रहें।

7. कुशल और मेहनती स्टाफ की नियुक्ति करें

किसी भी कंपनी की तरक्की में उस कम्पनी में काम करने वाले कर्मचारियों की अहम् भूमिका होती है। और ऐसा भी देखा गया है की अकुशल कर्मचारियों की वजह से कई व्यवसाय असफल भी हो जाते हैं। इसलिए यदि आप अपने छोटे बिजनेस को बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको ऐसे जुनूनी लोगों की तलाश करनी होगी, जिन्हें उस क्षेत्र में काम करने में मजा आता हो जिस क्षेत्र से आपका व्यवसाय हो ।

इसमें कोई दो राय नहीं की यदि आपकी कंपनी में कुशल और मेहनती लोग कार्यरत हैं, तो आपके व्यवसाय की सफलता की संभावना काफी अधिक हो जाती है। अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करने के लिए आपको न सिर्फ कुशल और मेहनती लोगों को नियुक्त करना होगा, बल्कि उनकी अनदेखी और उपेक्षा से बचकर उन्हें हर समय मोटिवेट रखने के नए नए तरीके खोजने होंगे।  

8. सोशल मीडिया का इस्तेमाल करें

वर्तमान में सोशल मीडिया सर्वव्यापी है, और भारत में भी करोड़ों लोग अलग अलग सोशल मीडिया प्लेटफोर्म से जुड़े हुए हैं। इसलिए यदि आप अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करने का विचार कर रहे हैं, तो आपको सोशल मीडिया का सही ढंग से इस्तेमाल करना होगा। जब भी आप अपनी वेबसाइट पर कुछ नया अपडेट करें सोशल मीडिया के माध्यम से उस सूचना को अपने संभावित ग्राहकों तक पहुँचाएँ ।

यदि उस पोस्ट के सम्बन्ध में किसी की कोई टिपण्णी आती है तो उसका जवाब एक निर्धारित समय के अन्दर अवश्य दें। उन टिप्पणियों इत्यादि को पढ़कर आपके सोशल मीडिया पेज से और अधिक संभावित ग्राहक जुड़ेंगे, जिससे हर बार और अधिक लोगों तक आप अपनी बात पहुँचाने में सक्षम हो पाएंगे।

9. अपनी कस्टमर सर्विस में सुधार करें      

आप खुद ही महसूस कीजिये की किसी दुकान से आपने कुछ सामान लिया, लेकिन अगले पल आपको लगा की आपको यह नहीं बल्कि कुछ और चाहिए। आप दुकानदार के पास गए और उसने दूसरा सामान देने से मना कर दिया। क्या आप दूसरी बार उस दुकान में जाने की हिम्मत कर पाएंगे। खैर यह तो थी दुकान की बात लेकिन सच्चाई यह है की यदि ग्राहक को आप खुश रखते हैं तो वह हर बार उस प्रोडक्ट या सर्विस विशेष को खरीदने आप ही के पास आता है।

सिर्फ इतना ही नहीं की वह स्वयं आता है, बल्कि वह अपने जान पहचान और सगे सम्बन्धियों को भी आपके वहीँ से खरीदारी करने को कहता है। इसलिए ध्यान रहे की आपका प्रोडक्ट या सर्विस कितनी भी अच्छी हों, लेकिन ग्राहकों को उससे सम्बंधित कई समस्याएँ आ सकती हैं। इन समस्याओं को सुनने और उनका निराकरण करने के लिए आपके पास कस्टमर सपोर्ट टीम का होना आवश्यक है।

अपने ग्राहकों को यह महसूस कराते रहें की वे आपके लिए बहुत मूल्यवान हैं, उनकी समस्याओं को ध्यान से सुनकर उनका हल करने से उनकी नज़र में आपके बिजनेस के प्रति विश्वास बढेगा। और वे आपके कस्टमर से लॉयल कस्टमर में बदल जाएँगे ।

10. बदलावों को अपनाते रहें

एक दौर में कीपैड वाले फ़ोन चलते थे और उस समय फोन मार्किट का बादशाह नोकिया हुआ करता था। बाद में स्मार्टफोन आए तो बादशाह भी बदल गया। बादशाह इसलिए बदल गया क्योंकि बादशाह ने अपने प्रोडक्ट में बदलाव नहीं किया। कहने का आशय यह है की परिवर्तन प्रकृति का शाश्वत नियम है, इसलिए हो सकता है जो प्रोडक्ट या सर्विस आपकी कंपनी आज बना रही है, कल लोगों को उसकी आवश्यकता ही नहीं हो, या किसी अन्य रूप में हो ।

यदि आप अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करना चाहते हैं तो आपको बदलावों के साथ अपने व्यवसाय और रणनीति में भी बदलाव लाना होगा। जिस प्रकार बाजार में रुझान हों, उन्हीं के आधार पर अपने उत्पादों और सेवाओं को संसोधित करना होगा, तभी आपका व्यवसाय छोटे से बड़े बिजनेस में परिवर्तित होने के साथ साथ लम्बे समय तक टिका भी रहेगा।

हालांकि हमने यहाँ पर छोटे बिजनेस को बड़ा करने के कुछ बढ़िया तरीके बताए। लेकिन इन सबके बावजूद उपर्युक्त बताया गया कोई भी तरीका इस बात की गारंटी नहीं है, की उसे अपनाकर आपका छोटा व्यवसाय बड़ा हो जाएगा। बल्कि उद्यमी को अपने छोटे बिजनेस को नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए समय समय पर अपनी व्यवस्था में सुधार करना होता है, और अपने आत्मविश्वास को बनाए रखकर निरंतर कुछ न कुछ बढ़िया करने की कोशिश करनी होती है ।

अन्य भी पढ़ें  

अपने बिजनेस को ऑनलाइन शिफ्ट कैसे करें.

अपने व्यवसाय की मार्केटिंग कैसे करें । बेस्ट तरीके।

Leave a Comment

error: Content is protected !!