ब्लड बैग बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? Blood Bag Manufacturing Business.

Blood Bag से तो शायद आप सभी अच्छी तरह से अवगत होंगे जी हाँ दोस्तों जब भी आप किसी ब्लड बैंक में ब्लड डोनेशन करने जाते हैं तो आप देखते होंगे की आपके हाथ पर लगी हुई नली के माध्यम से आपके शरीर से निकला हुआ रक्त प्लास्टिक से निर्मित बैग में जमा हो रहा है यही बैग ही Blood Bag कहलाता है । इन बैग की यदि हम बात करें तो इनमें रक्त का संदूषण मुक्त और जमावट मुक्त और भण्डारण किया जा सकता है ।

कहने का आशय यह है की रक्त का संदूषण मुक्त और जमावट मुक्त भण्डारण करने के लिए इस्तेमाल में लाया जाने वाला यह एक उपकरण है। इसमें रक्त को सही ढंग से रखने के लिए विकृत रूप से सील किया गया एक बैग होता है इस बैग पर एक डायाफ्रामस्‍लाइड डिलीवरी ट्यूब होती है। इसके अलावा इस बैग से इग्रेशन प्राप्त करने के लिए इस पर एक सील भेदी युग्मन सुई अनुकूलित होती है और रक्त कलेक्टिंग लाइन में एक लचीली ट्यूब भी लगी होती है।

आम तौर पर इस तरह के इन Blood Bag को बनाने के लिए जैव संगत पीवीसी का इस्तेमाल किया जाता है इस सामग्री को उपयुक्त योजक के साथ मिश्रित करके उपयोग में लाया जाता है । इस तरह के ये बैग ब्लड कलेक्शन, अवयवों के ट्रान्सफर और बिना आधान के ट्रांसफ्यूजन के लिए सक्षम होने चाहिए।

इसके अलावा इन बैग में कम तापमान यानिकी माइनस तापमान सहन करने की भी क्षमता का होना नितांत आवश्यक होता है जैसे ताजा जमा हुआ प्लाज्मा तैयार करने के लिए इन बैग को –70°C तापमान में रखने की भी आवश्यकता हो सकती है ।

Blood bag banane ka business

इस तरह के बैग बनाने में इस्तेमाल में लाये जाने वाले किसी भी कच्चे माल में किसी प्रकार का कोई विषाक्त पदार्थ नहीं होना चाहिए जो आधान उत्पाद प्रवेशकर रोगी को नुकसान पहुंचा सके। चूँकि Blood Bag की मांग ब्लड बैंक एवं हॉस्पिटल इत्यादि में हमेशा बनी रहती है इसलिए आज हम इस लेख के माध्यम से इसी विषय पर जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करेंगे।  

उपयोग और मार्किट

वैसे देखा जाय तो बेहतर फैसिलिटीज के साथ स्वास्थ्य सेवाओं की बढती मांग को पूरा करना और इन्हें उचित दामों पर उपलब्ध कराना सप्लाई चेन के लिए हमेशा से ही एक चुनौतीपूर्ण कार्य रहा है। ब्लड सर्विस की यदि हम बात करें तो इस व्यवसाय को वैश्विक स्तर पर मान्यता प्राप्त है इसलिए इसके प्रोडक्ट अब वस्तु बनते जा रहे हैं।

एक विश्वसनीय आंकड़े के मुताबिक वर्ष 2016 तक Blood Bag मार्किट का कुल मूल्य लगभग 279 मिलियन डॉलर था और 11.0% का सीएजीआर की दर से बढ़ने की उम्मीद के साथ वर्ष 2023 तक इसके 580 मिलियन डॉलर तक पहुँचने की संभावना है। इसी आंकड़े के मुताबिक 2016 में डिस्पोजेबल ब्लड बैग बाजार में इनकी कुल संख्या 275 मिलियन यूनिट थी और 2023 तक इनकी संख्या बाजार में 556 मिलियन यूनिट तक पहुँचने की संभावना जताई गई थी।

इसलिए इस तरह के बैग को रक्त और उसके घटकों के हस्तांतरण, भंडारण, संग्रह, और आधान के लिए नियोजित एक स्पष्ट, प्लास्टिक डिवाइस के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। Blood Bag के उपयोग की यदि हम बात करें तो इनका इस्तेमाल रक्त कोशिकाओं, प्लाज्मा संग्रह के कुशल संचालन के लिए किया जाता है।

डबल ब्लड बैग का निर्माण दो अलग अलग रक्त घटकों प्लाज्मा और लाल रक्त कोशिकाओं को संग्रहित करने और अलग अलग करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा ट्रिपल ब्लड बैग का निर्माण पूरे रक्त को रक्त के तीन घटकों में अलग अलग करने के लिए डिजाईन किया जाता है सेंट्रीफिगेशन और एक्सट्रैक्शन प्रक्रिया के माध्यम से रक्त से लाल रक्त कोशिकाओं, प्लाज्मा और प्लेटलेट्स को अलग अलग किया जाता है।

ब्लड बैग निर्माण बिजनेस कैसे शुरू करें?(How to Start Blood Bag Manufacturing Business):

Blood Bag Manufacturing Business शुरू करने के लिए उद्यमी को अनेकों कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है। उद्यमी को जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध करने के अलावा, पॉवर प्रबन्धन, मैनपावर प्रबन्धन, आवश्यक मशीनरी और उपकरणों का प्रबंध, कच्चे माल का प्रबंध, वित्त की व्यवस्था इत्यादि को सफलतापूर्वक अंजाम तक पहुँचाना होता है।

इसके अलावा उद्यमी को एक बात का ध्यान राल्ह्ना होगा की इस तरह का यह बिजनेस मेट्रो सिटी और महानगरों जहाँ करोड़ों की संख्या में लोग निवास करते हैं और वहां पर हॉस्पिटल एवं अन्य स्वास्थ्य संस्थानों की संख्या भी अधिक होती हैं। वहां पर इस तरह के व्यवसाय को चलाना लाभकारी हो सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का Blood Bag Manufacturing Business शुरू कर सकता है।

1. जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध करें

जहाँ तक लोकेशन का सवाल है इसका जिक्र तो हम पहले भी उपर्युक्त वाक्य में कर चुके हैं की एक ऐसा शहर जहाँ हॉस्पिटल एवं अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों की भरमार है वहां पर इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करना लाभकारी हो सकता है। लेकिन Blood Bag इकाई का औद्योगिक सेटअप के लिए कच्चे माल और उत्पादित उत्पाद के लिए स्टोर बनाने के लिए जगह, कार्यशाला या विनिर्माण क्षेत्र के लिए जगह, बिजली आपूर्ति उपयोगिताओं के लिए स्थान, जनरेटर सेटअप के लिए जगह की आवश्यकता होती है।

उद्यमी को ऑफिस इत्यादि के लिए भी जगह सुनिश्चित करने की आवश्यकता होती है और ऑफिस में लगने वाले फर्नीचर इत्यादि के लिए भी जगह की आवश्यकता होती है। इस प्रकार से कुल मिलाकर देखें तो उद्यमी को 1000 से 1200 Square Feet जगह की आवश्यकता हो सकती है। और यदि उद्यमी खुद की जमीन पर निर्माण कार्य करवाता है तो उसे इस निर्माण कार्य में 4-5 लाख रूपये खर्च करने की भी आवश्यकता हो सकती है।    

2. वित्त का प्रबंध करें

जहाँ तक वित्त के प्रबंध की बात है वित्त का प्रबंध तो उद्यमी तभी कर पायेगा जब उसे अपने Blood Bag Manufacturing Business को शुरू करने में आने वाली लागत का अनुमान होगा। जी हाँ दोस्तों और यह तब होगा जब उद्यमी के पास अपने व्यवसाय का बिजनेस प्लान या फिर प्रोजेक्ट रिपोर्ट होगी। 

कहने का आशय यह है की उद्यमी को वित्त का प्रबंध करने से पहले अपने व्यवसाय की योजना या फिर प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर लेनी चाहिए और उसमें आने वाली अनुमानित लागत के अनुसार ही वित्त का प्रबंध करना चाहिए। इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए भी उद्यमी को प्रमुख दो लागतों स्थिर लागत और कार्यशील लागत का प्रबंध करना होता है जिसे वह सरकारी योजनाओं में मिलने वाले सब्सिडी ऋण, बैंक से ऋण, अपनी व्यक्तिगत बचत इत्यादि स्रोतों से प्रबंधित कर सकता है।     

3. आवश्यक लाइसेंस और पंजीकरण प्राप्त करें   

जहाँ तक लाइसेंस और पंजीकरण का सवाल है Blood Bag Manufacturing Business शुरू करने के लिए उद्यमी को निम्नलिखित लाइसेंस और पंजीकरण की आवश्यकता हो सकती है।

  • सबसे पहले उद्यमी को अपने व्यवसाय को रजिस्ट्रार ऑफ़ कम्पनीज में प्रोप्राइटरशिप, one पर्सन कंपनी या फिर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर रजिस्टर करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • बिलिंग, इनवॉइस के लिए टैक्स रजिस्ट्रेशन करने की भी आवश्यकता हो सकती है।
  • फैक्ट्री और ट्रेड लाइसेंस के लिए स्थानीय प्राधिकरण से संपर्क करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • पोल्यूशन और फायर डिपार्टमेंट से एनओसी लेने की आवश्यकता हो सकती है।
  • उद्योग आधार और एमएसएमई डाटा बैंक रजिस्ट्रेशन भी यदि उद्यमी चाहता है तो करा सकता है।
  • इसके अलावा उद्यमी को Blood Bag Manufacturing Business के लिए ISO Certification और ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया से भी लाइसेंस लेने की आवश्यकता हो सकती है।
  • खुद का ब्रांड स्थापित करने और उसे सुरक्षित करने के लिए उद्यमी चाहे तो ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन भी करा सकता है।        

4. आवश्यक मशीनरी और कच्चे माल का प्रबंध करें  

इस व्यवसाय में इस्तेमाल में लायी जाने वाली मशीनरी और उपकरणों की लिस्ट इस प्रकार से है ।

  • एक्सट्रूडर
  • फ्लिम ब्लोइंग मशीन
  • कटिंग मशीन
  • पीवीसी वेल्डिंग मशीन
  • स्टीम स्टेरीलाइजर
  • प्रोफाइल डाई
  • पम्प
  • बिन्स

Blood Bag Manufacturing Business में कच्चे माल के तौर पर प्रमुख रूप से PVC DEHP Pellets और PVC DEHP Tubing है इसके अलावा पैकिंग सामग्री भी कच्चे माल के तौर पर इस्तेमाल में लायी जाती है ।

5. निर्माण कार्य शुरू करें   

Blood Bag की यदि हम बात करें तो ये बाजार में सिंगल बैग, डबल बैग या ट्रिपल बैग सिस्टम के साथ उपलब्ध हैं । लेकिन यहाँ पर हम सिंगल ब्लड बैग निर्माण के बारे में ही बात करने वाले हैं Blood Bag Manufacturing Process के पहले चरण में PVC DEHP pellets इत्यादि कच्चा माल अधिकृत विक्रेता से खरीदकर स्टोर कर लिया जाता है। इसके प्रथम चरण में सीलिंग के लिए पीवीसी ब्लोन फिल्म का निर्माण किया जाता है।

किसी प्रकार के भी संदूषण से बचने के लिए इस प्रक्रिया के लिए पूर्वनिर्धारित उपायों की आवश्यकता होती है और फिर इनका निर्माण स्वच्छ और स्वस्थ वातावरण में किया जाता है। सबसे पहले PVC DEHP pellets को एक्सट्रूडर के हॉपर में डाला जाता है सर्कुलर शेप की प्रोफाइल डाई ब्लोन फिल्म के लिए एक्सट्रूडर के अंत में माउंट की जाती हैं। उसके बाद मशीन के बैरल हीटर को शुरू किया जाता है और इसे इस तापमान तक पहुँचाया जाता है ताकि यह PVC DEHP pellets को पिघलाने में सक्षम हो सके।

उसके बाद  PVC DEHP pellets पिघलना शुरू हो जाते हैं उसके बाद इस पिघले हुए मटेरियल को एक डाई की मदद से एक्सट्रूडर से फिल्म ब्लोइंग मशीन में भेज दिया जाता है। इस मशीन में फोर्मिंग डाई सर्किल के आकार में परिवर्तित हो जाती है और इस फिल्म को आगे विस्तृत करने के लिए हवा का दबाव उपयोग में लाया जाता है। जब यह वांछित आयामों तक विस्तृत हो जाता है तो इसे ठंडा किया जाता है और फिर इस ठंडी पीवीसी शीट को रोलर में रोल कर दिया जाता है।

Blood Bag Manufacturing की अगली प्रक्रिया में  इस पीवीसी ब्लोन शीट को कटिंग मशीन में डाला जाता है और यह मशीन इस शीट को वांछित आयामों में काटने का काम करती है। अगले चरण में इन बैग को पीवीसी वेल्डिंग मशीन में डाला जाता है और इस प्रक्रिया में मशीन पर वांछित आयामों के अनुसार प्रोफाइल डाई माउंट की जाती हैं।

और इन डाई में यह प्रावधान किया गया होता है की जब वेल्डिंग की जा रही हो तो ये PVC tubing की भी प्लेसमेंट कर सकें। ध्यान रहे पीवीसी फिल्म को वांछित आकार की डाई के अनुसार ही वेल्ड किया जाता है अतिरिक्त लाइन को ट्रिम करके अलग कर दिया जाता है ।

इसके बाद Blood Bag Manufacturing Process में ब्लड बैग को हाई प्रेशर स्टीम के माध्यम से स्टेरलाइज्ड की जाती हैं अगली प्रक्रिया में इन बैग को क्वालिटी टेस्टिंग के लिए भेजा जाता है और पास होने पर बाजार में बेचने या फिर ब्लड बैंक या हॉस्पिटल को सप्लाई कर दिया जाता है।

डिस्क्लेमर – उपर्युक्त दी गई जानकारी केवल शैक्षणिक उद्देश्य से दी गई है।

अन्य लेख भी पढ़ें

खुद का ब्लड बैंक कैसे शुरू करें? पूरी जानकारी.

हेल्थ और फिटनेस सेण्टर कैसे शुरू करें?    

error: Content is protected !!