बेकरी बिजनेस कैसे शुरू करें। How to Start a Bakery Shop in India.

शायद बेकरी नामक इस शब्द से आप सभी अच्छी तरह से अवगत होंगे Bakery Shop की यदि हम बात करें तो वर्तमान में हर स्थानीय मार्किट में एक या एक से अधिक बिस्कुट, केक, ब्रेड इत्यादि बेचने वाली बेकरी की दुकानें देखी जा सकती हैं । वर्तमान जीवनशैली की यदि हम बात करें तो बेकरी से उत्पादित उत्पाद मनुष्य जीवन का एक हिस्सा बन चुके हैं। किसी के बर्थडे, एनिवर्सरी, शादी इत्यादि में केक काटना एक रिवाज बनता जा रहा है।

यहाँ तक की मनुष्य का ही नहीं अपितु किसी कंपनी, संस्थान, संगठन इत्यादि का स्थापना दिवस के उपलक्ष में भी केक काटने का रिवाज प्रचलित होता जा रहा है। जहाँ तक ब्रेड का सवाल है घरों एवं होटलों में इसका बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है और बिस्कुट को लोग मेहमान नवाजी के दौरान मेहमानों को परोसते हैं।

लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है की बेकरी आइटम में भारत में ब्रेड, केक एवं बिस्कुट ही बिकते हैं बल्कि पेस्ट्री इत्यादि भी लोगों द्वारा बड़े चाव से खायी जाती हैं। इसलिए यदि आप बेकरी का काम जानने वालों में से एक हैं तो आप बेकरी का बिजनेस आसानी से शुरू कर सकते हैं।

Bakery Shop Business Plan
A Bakery Shop in a Market

क्या होती है बेकरी (What is Bakery shop)

बेकरी की यदि हम बात करें तो इसे हम एक ऐसा स्थान या स्थापना कह सकते हैं जहाँ आटे, मैदा पर आधारित भोजन किसी ओवन की मदद से पकाया जाता है। इनमें प्रमुख रूप से ब्रेड, कूकीज, केक, पेस्ट्री, पाई इत्यादि पकाए जाते हैं।

लेकिन वर्तमान में अधिकतर बेकरी में मिष्ठान के आइटम भी बनाये जाते हैं इसके अलावा कुछ बेकरी अपनी बिक्री बढाने के लिए चाय, कॉफ़ी एवं अन्य पेय भी बेचती हैं ताकि उन पेयों के साथ ग्राहक बेकरी में उत्पादित उत्पादों का उपभोग कर सकें। साधारण शब्दों में एक ऐसे दुकान जहाँ ब्रेड, कूकीज, केक, पेस्ट्री, पाई इत्यादि मिलती हों बेकरी कहलाती है।

बेकरी की दुकान कैसे खोलें (How to Open Bakery Shop)  

यद्यपि ऐसे लोग जिन्हें बेकरी आइटम पकाने का अनुभव हो वे खुद की बेकरी की दुकान आसानी से शुरू कर सकते हैं। वह इसलिए क्योंकि उन्हें इस तरह के काम का अनुभव होता है और उन्हें शुरूआती दौर में किसी दुसरे पर निर्भर नहीं रहना पड़ता। लेकिन अन्य लोग भी कुछ महीनों का प्रशिक्षण लेने के बावजूद इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं। क्योंकि जिस उद्यमी को बेकरी की जानकारी होगी कर्मचारियों को वह अपने हिसाब से नियंत्रित कर पाने में सक्षम होगा। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति इस तरह का बिजनेस शुरू कर सकता है ।

बेकरी का प्रकार चुनें (Select the types of bakery)

कोई भी व्यक्ति जो खुद का बेकरी बिजनेस शुरू करना चाहता है उसे सबसे पहले बेकरी की दुकान का प्रकार चुनना होगा क्योंकि वर्तमान में प्रमुख तौर पर तीन प्रकार की बेकरी पहली बेकरी कैफे, दूसरी होम बेकरी एवं तीसरी डिलीवरी किचन प्रचलन में हैं।

बेकरी कैफे (Bakery cafe)

बेकरी कैफे की श्रेणी में बेकरी की ऐसी दुकानें आती हैं जो अपने ग्राहकों को दुकान पर बैठने का विकल्प भी प्रदान करती हैं।इस तरह की अधिकतर दुकानें ग्राहकों एवं समुदाय को खाद्य एवं पेय के बहुत सारे आइटम ऑफर कर रही होती हैं ताकि उनकी बिक्री बढ़ सके।

यही कारण है की इस ग्त्रह की बेकरी शुरू करने के लिए एक बड़े निवेश की आवश्यकता होती है क्योंकि इसमें उद्यमी को किसी प्रसिद्ध मार्किट में दुकान खोलनी होती है ताकि वहां पर ग्राहक आसानी से पहुँच सकें। इसके अलावा ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए दुकान कि सजावट एवं डिजाईन पर भी काफी खर्च करना पड़ता है।

होम बेकरी (Home bakery)

जैसा की नाम से ही स्पष्ट है इस तरह की इस बेकरी को उद्यमी अपने घर से या कोई सस्ती सी दुकान किराये पर लेकर उसमें कुछ ही उत्पादों का उत्पादन करके शुरू कर सकता है। बेकरी का यह विकल्प उन लोगों के लिए ठीक है जो इस बात का पता करना चाहते हैं की एक बेकरी ककिसे चलाई जा सकती है। ये एक छोटे से मेनू से शुरू करके बाद में धीरे धीरे अपने बिजनेस को बढ़ा सकते हैं।

डिलीवरी किचन (Delivery Kitchen)

जैसा की नाम से ही स्पष्ट है इस तरह की बेकरी में उद्यमी के टारगेट ग्राहक वे होते हैं जो उनके घर पर डिलीवरी लेना पसंद करते हैं । इसमें उद्यमी चाहे तो किसी प्रसिद्ध बेकर के साथ कॉन्ट्रैक्ट करके भी उसके लिए बेकरी आइटम बनाकर उसे बेच सकता है डिलीवरी किचन बनाने के लिए उद्यमी अपनी कोई भी जगह इस्तेमाल में ला सकता है । यहाँ तक की घर का पिछवाड़ा भी इस तरह के बिजनेस के लिए उपयुक्त है।

लोकेशन का चुनाव करें (Select location for bakery shop)

अब यदि उद्यमी ने अपने बिजनेस के लिए लोकेशन का चयन करने का होना चाहिए। आम तौर पर एक बेकरी के लिए किसी प्रसिद्ध मार्किट जहाँ पर दिन में हजारों लोग चहलकदमी करते हों आदर्श लोकेशन होती है। फ्रंट एरिया में एक ऐसी दुकान जो ग्राउंड फ्लोर पर उपलब्ध हो और जहाँ ग्राहक आसानी से आ जा सकें बेकरी के लिए उपयुक्त मानी जाती है ।

एक Bakery Shop के लिए 500 Square Feet जगह कम से कम चाहिए क्योंकि इसमें से एक हिस्सा किचन जहाँ बेकरी आइटम बनाई जाएँगी और एक डिस्प्ले हिस्सा जहाँ पर इन आइटम को सजाकर डिस्प्ले करके बेचा जायेगा। हालांकि यह जगह की उपलब्धता एवं उद्यमी की अपनी पसंद पर निर्भर करता है। ध्यान रहे उद्यमी जहाँ बेकरी खोलना चाहता हो वहां पानी की पूरी व्यवस्था होनी चाहिए और पानी निकासी का भी उचित प्रबंध होना अनिवार्य है।

उद्यमी यदि बेकरी खोलने के लिए जमीन या दुकान किराये पर ले रहा हो तो उसे रेंट अग्रीमेंट या फिर लीज अग्रीमेंट अवश्य बना लेना चाहिए क्योंकि इसे उद्यमी एक एड्रेस प्रूफ के तौर पर उपयोग में ला सकता है। जो आगे चलकर उसके अनेकों काम आ सकता है। इसके अलावा उद्यमी को लैंडलॉर्ड से इस बाबत एक NOC भी ले लेनी चाहिए की उसे उसकी दुकान या जमीन को खाद्य उत्पादों के निर्माण के लिए इस्तेमाल में लाये जाने पर किसी तरह की कोई आपत्ति नहीं है।       

Bakery Shop के लिए सभी प्रकार के लाइसेंस लें

इसके लिए दुकान इत्यादि किराये पर लेने के बाद उद्यमी का अगला कदम सभी प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन लेने का होना चाहिए। बेकरी की दुकान खोलने के लिए उद्यमी को निम्न तरह के लाइसेंस की आवश्यकता हो सकती है।

  • चूँकि यह खाद्य से जुड़ा हुआ बिजनेस है इसलिए इसे शुरू करने के लिए उद्यमी को फ़ूड लाइसेंस की आवश्यकता होगी। वर्तमान में फ़ूड लाइसेंस के लिए ऑनलाइन भी आसानी से आवेदन किया जा सकता है।
  • उद्यमी को टैक्स रजिस्ट्रेशन जैसे जीएसटी रजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता होगी।
  • इसके अलावा स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर निगम, नगर पालिका से हेल्थ लाइसेंस के लिए आवेदन किया जा सकता है।
  • फायर डिपार्टमेंट से एनओसी या फायर लाइसेंस की आवश्यकता हो सकती है ।
  • पुलिस विभाग से भी ईटिंग लाइसेंस की आवश्यकता हो सकती है हालांकि यह नियम राज्य के आधार पर अंतरित हो सकता है।      

मशीनरी एवं उपकरण खरीदें (Purchase Equipment for Bakery )

बेकरी की दुकान खोलने के लिए उद्यमी को किचन में इंस्टाल होने वाले अनेकों मशीनरी एवं उपकरणों की आवश्यकता होती है। चूँकि अधिकतर उपकरण स्टेनलेस स्टील से निर्मित होते हैं इसलिए ये थोड़े महंगे होते हैं लेकिन इनका फायदा यह होता है की ये बड़े लम्बे समय तक चलते हैं।

इसलिए यह बिजनेस शुरू कर रहे उद्यमी को उस एरिया विशेष में यह भी पता करना चाहिए की कहीं कोई बेकरी के पुराने मशीनरी एवं उपकरण तो नहीं बेच रहा है। पुराने उपकरण उद्यमी को सस्ते में मिल जायेंगे । बेकरी की दुकान के लिए जो प्रमुख उपकरण चाहिए उनमें प्लेनेटरी मिक्सर, ओवन, डीप फ्रिज, कुलिंग फ्रिज, वर्किंग टेबल, गैस स्टोव, सिलिंडर, स्टोर करने वाले बर्तन इत्यादि चाहिए होते हैं।     

बेकरी आइटम डिस्प्ले करने के लिए डिजाईन

जैसा की हम सबको विदित है की किसी भी बेकरी के एरिया को प्रमुख तौर पर दो भागों में विभाजित किया जाता है पहला भाग किचन का होता है जहाँ सभी बेकरी आइटम पकाई एवं बनाई जाती हैं । दूसरा भाग फ्रंट एरिया होता है जिसे ग्राहकों के सामने पेश किया जाता है आम तौर पर यह वह एरिया होता है जहाँ पर बेकरी आइटम को डिस्प्ले किया जाता है और यही से इन्हें ग्राहकों को बेचा जाता है।

यही कारण है की इस एरिया का आकर्षक होना बेहद जरुरी है इसलिए उद्यमी को डिस्प्ले एरिया का डिजाईन तैयार करके उसी के अनुरूप काम शुरू करवाना होगा। यद्यपि डिस्प्ले करने के लिए उद्यमी को डिस्प्ले फ्रिज, डिस्प्ले रैक इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है । 

कर्मचारियों की नियुक्ति करें (Appoint staff in your bakery)

चूँकि इसमें चीजों की प्रेजेंटेशन भी काफी मायने रखती है यही कारण है की इस तरह के बिजनेस के लिए अनुभवी एवं कुशल कर्मचारियों की आवश्यकता होती है। एक अच्छी बेकरी खोलने के लिए उद्यमी को हेड शेफ, शेफ डे पार्टीज, कौमी लेवल शेफ, हेल्पर, सर्विस बॉयज, केशियर इत्यादि कर्मचारियों की आवश्यकता हो सकती है। कर्मचारियों का वेतन उनकी जानकारी एवं अनुभव पर निर्भर करता है हालांकि यह उद्यमी पर निर्भर करता है की वह कितने एवं किस तरह के कर्मचारियों को अपने बिजनेस का हिस्सा बनाने की सोच रहा है।  

मार्केटिंग एवं ब्रांडिंग

किसी भी बिजनेस को फलने फूलने के लिए ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग की नितांत आवश्यकता होती है । उद्यमी को चाहिए की वह किसी डिज़ाइनर से एक लोगो एवं एक अच्छा सा डिस्प्ले बोर्ड डिजाईन कराये। यह गतिविधि उद्यमी को न केवल उसकी पहचान स्थापित करने में मदद करेगी अपितु पैकेजिंग के समय ब्रांडिंग करने में भी मदद करेगी।

इसके अलावा उद्यमी को एक बेहद अच्छे ढंग से डिजाईन किया गया मेनू छपवाना भी नहीं भूलना चाहिए हालांकि बिजनेस के पहले कुछ महीनों के लिए कुछ हज़ार पम्फलेट छापना उद्यमी के बिजनेस की मार्केटिंग के लिए पर्याप्त होगा। पम्पलेट के अलावा उद्यमी को डिस्प्ले बोर्ड, विजिटिंग कार्ड इत्यादि पर भी खर्च करने की आवश्यकता होती है।   

स्टाफ की वर्दी का निर्णय लें

जब भी किसी उद्यमी द्वारा कोई खाद्य से सम्बन्धित बिजनेस शुरू किया जाता है तो कर्मचारियों की वर्दी को नज़रंदाज़ या इसकी महत्वता को कम आंक लिया जाता है। लेकिन Bakery Shop Business शुरू कर रहे उद्यमी को ध्यान रखना चाहिए की वर्दी इसलिए बेहद जरुरी है क्योंकि यह कर्मचारियों को एक व्यवसायिक लुक प्रदान करती है और बेकरी की ब्रांडिंग में भी मददगार साबित होती है।

फ़ूड बिजनेस के लिए यह बेहद जरुरी होता है की इसमें काम करने वाले कर्मचारी अच्छे, साफ़ सुथरे एवं अच्छे कपड़ों में दिखें उद्यमी विभिन्न तरह की ड्रेस में से कोई भी ड्रेस का चयन करके कर्मचारियों को उनके कार्य के मुताबिक प्रदान कर सकता है ।

बेकरी खोलने में आने वाला अनुमानित खर्चा (Investment in Bakery business)

Bakery Shop से जुड़ी अन्य जानकारी के साथ साथ लोग यह भी जानना चाहते हैं की भारत में बेकरी खोलने में लगभग या अनुमानित कितना खर्चा आ सकता है। इसलिए हम यहाँ पर बेकरी बिजनेस शुरू करने में आने वाले कुछ खर्चों की लिस्ट दे रहे हैं जिन्हें पढ़कर अंदाजा लगाया जा सकता है की इस बिजनेस की शुरू करने में कितना खर्चा आ सकता है।

  • दुकान का किराया शहर, नगर, लोकेशन इत्यादि के आधार पर अंतरित हो सकता है लेकिन एक अच्छी लोकेशन पर यह मंथली किराया 40000 रूपये से 100000 रूपये तक हो सकता है।
  • उपकरण एवं मशीनरी यदि उद्यमी नए लेगा तो 40000 से 700000 रूपये और यदि पुराने लेता है तो दो से चार लाख रूपये तक का खर्चा आ सकता है।
  • विभिन्न तरह के लीगल कामों एवं लाइसेंस से सम्बंधित कामों को निबटाने में 25 से तीस हज़ार रूपये का खर्चा आ सकता है।
  • उद्यमी को प्रति महीने 70 हज़ार से एक लाख रूपये तक वेतन पर खर्च करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • शुरू में मार्केटिंग कास्ट के तौर पर प्रति महीने 15-20 हज़ार का खर्चा आ सकता है। 

अन्य लेख     

1 thought on “बेकरी बिजनेस कैसे शुरू करें। How to Start a Bakery Shop in India.”

Leave a Comment

error: Content is protected !!